लुधियाना, जेएनएन। भाइयों और बहनों, आज रात 12 बजे के बाद 500 और 2000 के नोट बंद हो जाएंगे। ये शब्द सुनते ही 8 नवंबर 2016 का दिन याद आ जाता है। यह घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब लाइव टीवी पर की तो उसी समय एटीएम मशीनों पर लोग जमा हो गए और कैश निकलवाने लगे। नोटबंदी का यह दिन शायद ही कोई भूला होगा। केंद्र सरकार के इस कदम से पूरे देश में हाहाकार मच गया था। अब एक बार फिर से सोशल मीडिया पर 2000 के नोट बंद होने की चर्चाएं छिड़ी हुई हैं। यह संदेश आरबीआइ के नाम से फैल रहा है। इसकी पुष्टि के लिए लीड बैंक मैनेजर से बात की तो उन्होंने इससे इन्कार करते हुए अफवाह करार दिया।

वायरल हो रहे संदेश में यह लिखा

सोशल मीडिया में 2000 का नोट बंद होने के जो स्लोगन और मैसेज शेयर किए जा रहे हैं, वह आरबीआइ के नाम से फैल रहे हैं। इस संदेश में लिखा है, 'रिजर्व बैंक 2000 के सभी नोट को वापस ले रहा है। इसकी जगह अब 1 जनवरी 2020 से 1000 के नए नोट जारी किए जाएंगे। 31 दिसंबर 2019 के बाद ये अब प्रचलन में नहीं रहेंगे। जिन लोगों के पास 2000 के नोट हैं वो 31 दिसंबर से पहले बैंक में जमा करवा अन्य करंसी लें। एक व्यक्ति सिर्फ 50 हजार रुपये तक ही 2000 के नोट एक्सचेंज करवा सकता है। 31 दिसंबर के बाद ये नोट नहीं बदले जाएंगे।

एक-दूसरे को फोन कर पूछ रहे लोग

अब लोग यह मैसेज पढऩे के बाद असमंजस में हैं। वे अलग-अलग तरह के कयास लगा रहे हैं। एक-दूसरे को फोन कर सच्चाई के बारे में जानकारी ले रहे हैं। यहां तक कि बैंकों में भी फोन आने शुरू हो गए हैं। लोगों को फिर से नोटबंदी के दौरान बैंकों में लगी कतारों की याद आने लगी है। 

बैंकों में जमा करवाने लगे नोट

कहीं न कहीं इस वायरल हो रहे मैसेज की वजह से लोग चिंता में हैं। इसी कारण वे अब बैंकों में जाकर 2000 के नोट जमा करवाने या बदलवाने लगे हैं। कई लोग तो बाजार में खरीदारी के लिए अधिकतर 2000 के नोट ही दे रहे हैं। हालांकि दुकानदार ग्राहकों से इन नोटों को लेने से इंकार नहीं कर रहे हैं।

कंपनी एजेंटों को भी यह नोट न लेने की अफवाहें

व्यापारिक संस्थानों में भी दो हजार के नोट बंद होने की चर्चाओं ने बल पकड़ा है। ऐसे में कई कंपनियों के ऐसे संदेश भी वायरल हो रहे हैं, जिसमें कंपनी के एजेंटों को 2000 के नोट न लेने और जिनके पास हैं, उन्हें शीघ्र बैंक में जमा करवाने की हिदायत दी जा रही है।

गौर से पढ़ें : आरबीआइ का ऐसा कोई संदेश नहीं

लुधियाना में लीड बैंक मैनेजर अनिल कुमार ने कहा कि 2000 रुपये का नोट बंद होने की चर्चाएं मात्र अफवाह हैं। आरबीआइ की ओर से ऐसी कोई भी जानकारी, गाइडलाइन और सर्कुलर नहीं आया है। इसलिए लोग चिंता न करें। यह में भय का माहौल तो है और बैंकों में 2 हजार के नोट जमा करवाने में भी बढ़ोतरी हुई है। जबकि कई लोग दो हजार के नोट बदल रहें हैं।

ये है हकीकत

दरअसल, एक यूजर ने ट्वीट किया कि 31 दिसंबर 2019 के बाद 2000 रुपये के नोट नहीं बदले जाएंगे। इस यूजर ने एक न्यूज वेबसाइट का लिंक भी शेयर किया। हमने उस लिंक पर जाकर रिपोर्ट पढ़ी तो उसमें ऐसा कहीं भी नहीं लिखा है कि सरकार 2000 रुपये के नोट को बंद करने जा रही है। अक्टूबर में प्रकाशित इस खबर में सिर्फ यही लिखा है कि एसबीआइ एटीएम से अब 2000 रुपये के नोट नहीं मिलेंगे। इसकी जगह 500, 100, 200 रुपये के नोट बढ़ाए जाएंगे।

नोटबंदी पर तब मोदी सरकार ने यह दी थी दलील

नोटबंदी की घोषणा के बाद विपक्ष के नेताओं ने इस फैसले को गलत ठहराया था। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी करने से काले धन से लेकर चरमपंथ, नकली मुद्रा समस्या समाप्त होने और आतंकवाद पर अंकुश लगने के फायदे गिनाए थे।

कारोबारियों की प्रतिक्रिया

2000 का नोट बंद होने की अफवाह से होटल एवं रेस्टोरेंट इंडस्ट्री में भी भय जरूर है, लेकिन इस संबंधी एसोसिएशन ने सूचना जारी की है कि अभी ऐसी कोई जानकारी नहीं है। सभी होटल-रेस्टोरेंट ये नोट ले रहे हैं।

-अमरवीर सिंह, पंजाब होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रधान

बाजार में लोगों में इस वायरल हो रहे संदेश से डर तो है, लेकिन हम 2000 के नोट ले रहे हैं, क्योंकि बैंको ने इसके लिए कोई जानकारी नहीं दी है। हालांकि इन अफवाहों के बाद रिटेलर्स 2000 के नोट ज्यादा देने लगे हैं। आरबीआइ को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

-हरकेश मित्तल, लुधियाना कंज्यूमर प्रोडक्ट डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के प्रधान 

बाजार में इसकी अफवाहें तेज हैं। ऐसे में कई दुकानदार 2000 का नोट लेने से कतरा रहे हैं। इसका असर बाजार की आर्थिक स्थिति पर पड़ रहा है। आरबीआइ के गवर्नर या पीएम को इस संबंध में शीघ्र स्पष्टीकरण देना चाहिए।

-मोहिंदर अग्रवाल, पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल के सचिव

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!