जासं, लुधियाना : दशहरा पर रावण के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का पुतला फूंकने के सयुंक्त किसान मोर्चे की घोषणा पर विवाद पैदा हो गया है। पंजाब भाजपा के कोषाध्यक्ष गुरदेव शर्मा देबी ने कहा संयुक्त मोर्चे के नेताओं योगेंद्र यादव व अन्य ने यह घोषणा करके हिदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। वहीं देश के संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति के बारे में अपशब्द कहे हैं। देबी ने कहा कि संयुक्त मोर्चे के नेताओं पर देशद्रोह का केस दर्ज किया जाए। देबी ने कहा कि विरोध जताने के बहाने किसान मोर्चे के नेता कभी होली को काली करार देते है तो कभी दीपावली को। अब उन्होंने दशहरे को लेकर भी ऐसी बयानबाजी की है, जोकि गलत है।

उन्होंने कहा कि देश की सबसे बडी सुप्रीम कोर्ट यह कह चुकी है कि जब उसने तीनों कृषि कानूनों पर रोक लगा दी है तो ऐसे में प्रदर्शन का क्या औचित्य है? पंरतु किसान नेता इन बातों का जबाब देने के स्थान पर देश में अराजकता की स्थिति पैदा कर रहे है। लोकतांत्रिक व्यवस्था में विश्वास रखने वाले भाजपा व अन्य नेताओं पर हिसक हमले करवा रहे है।

Edited By: Jagran