जासं, खन्ना : पंजाब में नगर कौंसिल चुनाव की घोषणा किसी भी वक्त हो सकती है। खन्ना कांग्रेस में नगर कौंसिल चुनाव से पहले ही बगावत की आधारशिला रखी जा चुकी है। खासकर रेलवे लाइन पार के सात पार्षदों समेत कुल आठ पूर्व पार्षद पार्टी हाईकमान से नाराज चले आ रहे हैं। इनमें खन्ना नगर सुधार ट्रस्ट के मौजूदा चेयरमैन गुरमिदर सिंह लाली भी शामिल हैं। चुनावी सुगबुगाहट के शुरू होते ही इस बागी गुट ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके लिए पूर्व पार्षद विजय शर्मा के आवास पर शनिवार को बैठक की गई।

बताते हैं कि इस बैठक में कौंसिल चुनाव को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में मौजूद पूर्व पार्षदों ने उनके कई वार्डो में पार्टी द्वारा प्रभारी नियुक्त करने पर भी बात की। जानकारी के अनुसार पार्षदों ने इस पर कड़ा एतराज जताया और पार्टी द्वारा टिकट नहीं देने पर अपने बूते चुनाव लड़े जाने की रणनीति भी तैयार रखने की बात की। सूत्रों के अनुसार यह भी फैसला लिया गया कि अगर पार्टी कुछ नेताओं की टिकट काटकर ग्रुप में फूट डालने की कोशिश करेगी तो सारा ग्रुप ही आजाद रूप से चुनाव में उतरेगा। बैठक में ये नेता रहे मौजूद

बैठक में कांग्रेस के निवर्तमान पार्षदों में से वार्ड तीन से गुरमिदर सिंह लाली, वार्ड 32 से विजय शर्मा, वार्ड छह से सुनील कुमार नीटा, वार्ड पांच से कृष्ण पाल, वार्ड 29 से गुरदीप मशाल, वार्ड चार से निवर्तमान पार्षद पति गुरमेल सिंह काला, वार्ड पांच से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके कर्मजीत सिंह सिफ्ती भी मौजूद रहे। इसके अलावा वार्ड सात से भी गुरमिदर सिंह लाली की पत्नी अंजनजीत कौर भी निवर्तमान पार्षद हैं। कौंसिल चुनाव को लेकर हुई बात : नीटा

वार्ड छह से कांग्रेस के पार्षद सुनील कुमार नीटा ने कहा कि बैठक में चुनाव को लेकर विस्तार से बात हुई। सीनियर नेता विजय शर्मा की तबीयत खराब होने के कारण काफी देर से ग्रुप की बैठक नहीं हुई थी। इसके चलते कई मुद्दों पर विचार करना जरूरी था। नीटा ने स्वीकार किया कि वार्ड इंचार्ज लगा देने से कई पार्षदों में रोष है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!