लुधियाना, जेएनएन। कनाडा में हुए चुनाव में ब्रैंप्टन वेस्ट से दूसरी बार सांसद बनने वाली कमल खैहरा ने अपना बचपन का ज्यादातर समय लुधियाना में बिताया औऱ अपनी स्कूली पढ़ाई दिल्ली में पूरी करने के बाद परिवार सहित कनाडा में जा बसीं। कमल खैहरा गिद्दा कलाकार भी रहीं हैं और बचपन में वह लुधियाना में कोच रविंदर रंगूवाल से गिद्दा सीखतीं थीं। रंगूवाल के खैहरा परिवार के साथ पारिवारिक रिश्ता है। सांसद कमल खैहरा के परिवार के करीबी रविंदर रंगूवाल बताते हैं कि भले ही खैहरा परिवार रोपड़ का रहने वाला था, लेकिन कमल के बचपन का ज्यादातर समय लुधियाना में बीता। उन्होंने अपनी पढ़ाई दिल्ली में करने के बाद वर्ष 2001-02 में कनाडा का रुख कर लिया। बचपन से ही वह काफी मिलनसार थीं। इसी कारण उन्होंने कनाडा में दूसरी बार सांसद बनने का गौरव हासिल किया।

पिता हैं वैज्ञानिक तो भाई कनाडा में एयरफोर्स कैप्टन

खासबात यह है कि कमल के परिवार का बैकग्राउंड भी देश के उच्च पदों पर सुशोभित रहने का है। कमल के पिता हरमिंदर सिंह खैहरा पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की टॉप 15 वैज्ञानिकों की टीम के सदस्य थे, जबकि उनका भाई मनी खैहरा कनाडा की रॉयल कनाडा एयरफोर्स के कैप्टन हैं। कमल खैहरा पंजाब की संस्कृति से भी काफी जुड़ाव रखती हैं और वह बेहतरीन गिद्दा कलाकार भी हैं। कमल और उनके भाई मनी को भांगड़ा और गिद्दा का प्रशिक्षण देने वाले रविंदर रंगूवाल बताते हैं कि दोनों भाई-बहन भांगड़ा ट्रेनिंग में काफी दिलचस्पी लेते थे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!