जागरण संवाददाता, लुधियाना : प्रदेश के पूर्व डीजीपी व कांग्रेस के पंजाब प्रधान नवजोत सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा के कथित हिदू विरोधी बयान पर हिदू संगठनों में भारी रोष है। मोहम्मद मुस्तफा के साथ साथ हिदू संगठनों में इस मामले पर कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू की चुप्पी पर भी रोष है। हिदू संगठनों ने सरकार से मुस्तफा के खिलाफ सख्त धाराओं में मामला दर्ज करने व उनकी गिरफ्तारी की मांग की है। शिवसेना बाल ठाकरे, हिंदू न्याय पीठ, हिदू सिख जागृति सेना समेत अलग-अलग संगठनों ने इसे सामाजिक एकता को खत्म करने वाला बयान बताया।

हिदू सिख जागृति सेना के प्रमुख व हिदू न्यायपीठ के प्रवक्ता प्रवीण डंग ने कहा कि मोहम्मद मुस्तफा का हिदुओं के प्रति जहर उगलने वाला बयान वायरल हो रहा है। वह सीधे रूप से हिदुओं को धमकी दे रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के प्रधान इस पर चुप हैं। सिद्धू हर बात पर प्रतिक्रिया देने के लिए तुरंत आगे आ जाते हैं लेकिन खुद को हिदू हितैषी बताने के बावजूद अब तक इस मुद्दे पर चुप हैं। उन्होंने मांग की है कि मुस्तफा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए ताकि भविष्य में कोई इस तरह के बयान देने की हिम्मत न करें। उधर शिव सेना (बाल ठाकरे) के प्रवक्ता चन्द्रकान्त चड्ढा ने कहा कि डीजीपी पंजाब से नकारे गए मुस्तफा अपना मानसिक संतुलन खो चुके है व उन्हें किसी अच्छे डाक्टर के इलाज की सख्त जरूरत है।

Edited By: Jagran