जेएनएन, लुधियाना/चंडीगढ़। Punjab-Haryana Monsoon Update: पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ का मौसम एक बार फिर बदल गया है। मौसम विभाग की मानें तो पंजाब व हरियाणा के कुछ हिस्सों में अगले चार दिन बादल छाए रहेंगे। हालांकि इससे पहले अनुमान जताया गया था कि शुक्रवार से मौसम साफ हो जाएगा, लेकिन देर शाम मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया कि पंजाब के ज्यादातर स्थानों पर अगले चार दिन बादल छाए रहेंगे। कुछ स्थानों पर हल्की बारिश भी हो सकती है।

वीरवार को भी राज्य के ज्यादातर जिलों में बारिश होने से अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। प्रमुख शहरों का तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया। वीरवार को सबसे ज्यादा 51 एमएम बारिश लुधियाना और आसपास के इलाकों में दर्ज की गई। पठानकोट में 47 एमएम, अमृतसर में 30 एमएम, बठिंडा में 23 एमएम और पटियाला में 22 एमएम बारिश हुई।

लुधियाना में अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम होकर 30.2 डिग्री तक पहुंच गया। जबकि अमृतसर का अधिकतम तापमान 33.0, बठिंडा का 29.7 , पटियाला का 30.8 और पठानकोट का 33.0 डिग्री सेल्सियस रहा। पंजाब के बरनाला में  बरनाला मेें शुक्रवार सुबह तीन घंटे हुई जोरदार बारिश से शहर जलमग्न हो गया। शहर के मेन सदर बाजार, फरवाही बाजार, हंडिआया बाजार, केसी रोड, पीसी रोड, राम बाग रोड आदि पर हुए जलजमाव से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया।

हरियाणा के कई हिस्सों में भी गत देर रात बारिश हुई। भारी बारिश के कारण जलजमाव की स्थिति बनी हुई है। बारिश से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। हिसार में दिन का तापमान सामान्य से 7 डिग्री सेल्सियस कम हो गया है। देखा जाए तो हरियाणा में दक्षिण पश्चिम मानसून पूरी तरह से सक्रिय हो चुका है। बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं तो धरती की प्यास भी बुझती दिखाई दे रही है। हरियाणा के झज्जर में 150 एमएम, कैथल में 128 एमएम, जींद में 91 एमएम बारिश दर्ज की गई है। वीरवार को हिसार में पिछले 24 घंटे में 29 एमएम बारिश दर्ज की गई है। और दो दिन में कुल आंकड़ा करीब 110 एमएम के पास पहुंच गया है।

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बंगाल की खाड़ी पर बने एक कम दबाब का क्षेत्र, उत्तर पाकिस्तान के साथ लगते पंजाब पर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने व मानसून टर्फ सामान्य स्थिति में आने से हरियाणा में मानसून कल 27 जुलाई से पूरी तरह से सक्रिय हो गया। मानसून की सक्रियता हरियाणा में 31 जुलाई तक बने रहने की संभावना है। 

 

Edited By: Kamlesh Bhatt