जेएनएन, श्री माछीवाड़ा साहिब: त्यौहारों के मद्देनजर सेहत विभाग द्वारा आज माछीवाड़ा इलाके में खाद्य पदार्थो और विशेष तौर पर मिठाई वाली दुकानों की जांच की। कुछ स्थानों पर सामान बढि़या हालत में बनता दिखाई दिया और कुछ स्थानों पर इतनी ज्यादा गंदगी देखने को मिली कि लोग इन पदार्थो को खाने से तौबा कर जाएं।

आज सेहत विभाग की टीम जिसमें डॉ. अर्शदीप सिंह, ब्लाक ऐजुकेटर जगजीवन शर्मा, गुरप्रीत सिंह, गुरतेज सिंह, मनमोहन सिंह और रणधीर सिंह ने आज करीब एक दर्जन से अधिक माछीवाड़ा इलाके की दुकानों में जा कर छापेमारी की और खाने-पीने वाली वस्तुओं की जांच की। सेहत विभाग की टीम द्वारा दुकानदारों को निर्देश दिए गए कि वह कोई भी खाने-पीने वाली वस्तु बनाने समय जहां गुणवत्ता का ख्याल रखें। वहां आसपास सफाई के अलावा कारीगरों और हाथों में दस्ताने व सिर में टोपियां पहनना यकीनी बनाएं। इस के अलावा हलवाई की दुकानों पर जो कारीगर काम करते हैं उन का मेडिकल होना जरूरी है कि उन को कोई बीमारी तो नहीं जिससे उन की तरफ से तैयार की वस्तुओं से दूसरे लोगों को कोई इंफेक्शन न हो जाये।

सेहत विभाग की टीम जब माछीवाड़ा इलाके में एक हलवाई की दुकान पर पहुंची तो वहां खाने-पीने वाली वस्तुओं में गंदगी देख कर सभी के होश उड़ गए। हलवाई द्वारा तैयार की गई मिठाई में मरी मक्खियां देखने को मिलीं। इस के इलावा कुछ ओर समान भी घटिया क्वालिटी का मिला जिस पर सेहत विभाग ने यह सारा समान नष्ट करवा दिया और आगे से चेतावनी दी कि यदि समान तैयार करने समय सफाई न हुई तो सख्त कार्यवाही की जायेगी।

जिला फूड इंस्पेक्टर डॉ. योगेश गोयल ने कहा कि विभाग द्वारा मिलावटखोरी को नकेल डालने के लिए लगातार छापेमारी जारी है और यदि माछीवाड़ा इलाके में कहीं ऐसा मिलावटी समान तैयार हो रहा है तो उस पर जल्द कार्यवाही की जायेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!