लुधियाना, जेएनएन। आर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट (ओकू) मोहाली और स्थानीय पुलिस की सीआइए-एक टीम ने जालंधर बाईपास से पास भारती कालोनी से गैंगस्टर गोपी को गिरफ्तार किया है। उसके पास से .32 बोर का देसी पिस्तौल व दो कारतूस मिले हैं। थाना सलेम टाबरी में केस दर्ज कर उसे शुक्रवार अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे दो दिन के रिमांड पर भेजा है।

एसीपी डिटेक्टिव मंदीप सिंह ने बताया कि 34 वर्षीय गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी जालंधर जिले के गोराया क्षेत्र के गांव रुड़का कलां की पत्ती बुलेकी का रहने वाला है। ओकू व सीआइए को वीरवार को सूचना मिली थी कि वह किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में अमन नगर से भारती कालोनी की ओर जा रहा है। उसके पास अवैध असलहा भी है। उसके खिलाफ विभिन्न थानों में पहले से ही 22 केस दर्ज हैं। वह कपूरथला जेल में पांच साल जेल काटने के बाद छह महीने पहले अक्टूबर 2020 में जमानत पर बाहर आया था।

पूछताछ में उसने बताया कि गांव रुड़का कलां में उसकी हैप्पू पंडित के साथ दुश्मनी है। वह अपनी सुरक्षा के लिए उत्तर प्रदेश से 18 हजार रुपये में देसी पिस्तौल व कारतूस खरीदकर लाया था। सीआइए इंचार्ज अवतार सिंह ने बताया कि हैप्पू के साथ हुई मारपीट के दौरान गोपी के सिर में चोट लगी थी। इस कारण उसकी याददाश्त पर भी असर पड़ा है।

इन थानों में दर्ज हैं केस

जालंधर के थाना गोराया, अमृतसर के थाना भिखीविंड, कपूरथला के थाना सुल्तानपुर लोधी, अमृतसर के थाना ब्यास, जालंधर के थाना करतारपुर सदर, अमृतसर के थाना सदर, होशियारपुर के थाना माहिलपुर, जालंधर कैंट, फतेहगढ़ साहिब थाने, मोहाली के सुहाना, अमृतसर के थाना सिटी पट्टी, फगवाड़ा के थाना सदर, कपूरथला के थाना कोतवाली, तरनतारन के थाना सदर, कपूरथला के थाना कोतवाली और लुधियाना के थाना सलेम टाबरी में हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण, डकैती, धोखाधड़ी, नशा तस्करी, चोरी, लूट, आर्म्स एक्ट, जेल एक्ट सहित कई धाराओं में केस दर्ज हैं।

 

Edited By: Vipin Kumar