जासं, बठिंडा। केंद्रीय जेल बठिंडा में बंद ए कैटेगिरी के गैंगस्टर अकुल खत्री वीरवार देर शाम को जेल की दूसरी मंजिल से कूद गया। हादसे में गैंगस्टर अकुल खत्री की दोनों टांगे टूट गई। जिसे उपचार के लिए देर रात को सिविल अस्पताल बठिंडा में दाखिल करवाया गया, लेकिन बाद में फरीदकोट मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। जेल प्रशासन इस पूरे मामले को हादसा बता रहा है और कहना है कि जेल परिसर में खेलते हुए समय गिर गया और वह चोटिल हो गया।

सिविल अस्पताल में गैंगस्टर का इलाज करने वाले डाक्टरों का कहना है कि दोनों टांगे उसकी दूसरी मंजिल से नीचे गिरने के कारण ही टूटी है, लेकिन गैंगस्टर खुद कूद है या उसके साथ कोई हादसा हुआ है, इसके बारे मे कुछ स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है, चूकिं गैंगस्टर ने भी इसके बारें में कुछ नहीं बोला है। बताया जा रहा है कि गैंगस्टर ने उक्त कदम जेल प्रशासन की तरफ से उसे परिजनों से फोन पर बात नहीं करने देने पर उठाया है। जबकि थाना कैंट पुलिस का कहना है कि उनके पास जेल प्रशासन से इतनी ही जानकारी आई थी कि गैंगस्टर अकुल खत्री की टांगे टूट गई और उसे इलाज के लिए सिविल अस्पताल लेकर जाना है। इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच उसे सिविल अस्पताल लाया गया था।

बताया जा रहा है कि केंद्रीय जेल बठिंडा में वीरवार शाम के समय सभी कैदी जेल में लगे पीसीओ से अपने-अपने परिवारों के साथ बातचीत करने के लिए लाइन में लगे हुए थे। हर कैदी को फोन पर बात करने के लिए 15 मिनट मिलते हैं, लेकिन जब अकुल खत्री का नंबर आया तो जेल अधिकारियों ने उसे अपने परिजनों से फोन पर बात करने से इंकार कर दिया। इसके बाद गुस्से में आकर गैंगस्टर अकुल खत्री जेल की दूसरी मंजिल पर पहुंच गया और वहां से उसने छलांग लगा दी। हादसे में उसकी दोनों टांगे टूट गई। इसके बाद पहले उसे जेल में बने अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन दोनों टांगे बुरी तरह से टूटने के कारण उसे उपचार के लिए सिविल अस्पताल बठिंडा के इमरजेंसी वार्ड में रेफर कर दिया गया। इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जेल प्रशासन व बठिंडा पुलिस गैंगस्टर अकुल खत्री को देर रात को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल लेकर पहुंची। इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डाक्टर दीप रत्न ने उसका चेकअप करने के बाद हड्डियों के माहिर डा विजय मित्तल व सर्जन डा. बी चावला को उसका इलाज करने के लिए बुलाया।

तीनों डाक्टरों ने उसे प्राथमिक उपचार करने के बाद फरीदकोट मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया गया। थाना कैंट के प्रभारी वरूण का कहना है कि उनके पास जेल से पत्र आया था, जिसमें लिखा गया है कि वरलीबारल खेलते समय गैंगस्टर अकुल खत्री गिर गया। जिससे उसके पैरों में फ्रैक्चर आया है, इसलिए उसे इलाज के लिए सिविल अस्पताल लेकर आना है,जबकि सिविल अस्पताल में गैंगस्टर के नाम से एंट्री हुई हैं, वहां पर सुसाइड अटेम्प्ट लिखा गया है।

Edited By: Vipin Kumar