जागरण संवाददाता, लुधियाना। Booster Dose In Punjab : शहर में सोमवार से बूस्टर डोज (Booster Dose) लगनी शुरू हो गई। बूस्टर डोज के लिए जिले में अलग से कोई सेंटर्स नहीं बनाए गए। 18 साल से अधिक आयु वालाें के लिए लुधियाना (Ludhiana) में वैक्सीनेशन (Vaccination) के जितने सेंटर्स बनाए गए हैं, उसमें ही बूस्टर डोज (Booster Dose) लग रही है। फिलहाल सेहत कर्मियों (Health Care Workers), फ्रंट लाइन वर्कर्स (Frontline Workers) और 60 साल से अधिक अस्वस्थ लोगों को बूस्टर डोज लगनी शुरू हुई है। सिविल सर्जन डा. एसपी सिंह ने दयानंद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में पहुंच कोविड की बूस्टर डोज लगवाई। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह भी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर पहुंच कर अपनी कोविड की डोज लगवाएं ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में मदद मिल सके।

लुधियाना के लोक संपर्क अधिकारी पुनीत पाल सिंह गिल ने दयानंद मेडिकल कालेज व अस्पताल में बूस्टर डोज लगवाई। (जागरण)

सिविल सर्जन ने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में 126 वैकसीनेशन सेंटर्स बनाए गए हैं। इसके अलावा 15-18 वर्ष के किशोरों के लिए अलग सेंटर्स पर वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गई है। सेहत विभाग ने वैक्सीनेशन को लेकर पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं ताकि आम लोगों को किसी तरह की दिक्कत न आए। सिविल सर्जन ने कहा कि सेहत विभाग के पास कोविशील्ड और कोवैक्सीन की पर्याप्त डोज है।

वहीं सुबह से ही वैक्सीनेशन सेंटर्स पर लोगों का उत्साह देखने को मिला। लोग सुविधानुसार वैक्सीन लगवाते दिखे। बूस्टर डोज के लिए खास बात यह रही कि इसके लिए अलग से रजिस्ट्रेशन नहीं हो रही है। लोगों ने फर्स्ट डोज के वक्त करवाई रजिस्ट्रेशन के आधार पर ही बूस्टर डोज लगवाई है।

कौन सी वैक्सीन लगेगी?

कोरोना की प्रीकाशन डोज वही वैक्सीन होगी जिसे पहली और दूसरी डोज के रूप में दिया गया था। सरकार ने बताया कि जिसे पहले कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज लगी हैं उसे तीसरी डोज भी कोविशील्ड की ही दी जाएगी।

यह भी पढ़ें-पनबस और पीआरटीसी कर्मचारी चुनावाें में करेंगे कांग्रेस का विरोध, चुनाव घोषित होने के चलते टली हड़ताल

Edited By: Vipin Kumar