जगराओं (लुधियाना), जेएनएन। गांव बारदेके के नजदीक सेमपुल के पास खेतों से एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ है। पुलिस ने जांच शुरू की तो सामने आया कि युवक के सिर में राड मारकर कर उसकी हत्या करने के बाद शव बारदेके सेमपुल के पास फेंक दिया गया था। शव को कुत्ते खींच कर खेतों में ले गए और वहां उसका चेहरा और एक हाथ नोच-नोच कर खा गए। थाना सिटी से एएसआइ बलजिंदर कुमार ने बताया कि मरने वाले की पहचान विपन कुमार पुत्र छविनाथ निवासी गांव अंचलपुर थाना कहलगांव, जिला भागलपुर (बिहार) के रूप में हुई है।

उन्होंने बताया कि विपन जगराओं में डिस्पोजल रोड पर कृष्णा गोशाला के नजदीक अपने परिवार सहित रहता था और क्षेत्र में रंग रोगन का ठेका लेता था। जांच में सामने आया कि विपन को 15 जनवरी को किसी ने सुबह फोन करके कहा कि वह उसे रंग का काम करवाना चाहता है। वह बुधवार सुबह अपनी बाइक से गया लेकिन लौटा नहीं। विपन के परिजनों ने थाना सिटी में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करवाई हुई थी।

एएसआइ बलजिंदर कुमार के अनुसार विपन की पत्नी रीना के बयान पर थाना सिटी जगराओं में कत्ल के आरोप में हरिंदर सिंह पुत्र बूटा सिंह निवासी गांव तलवंडी राय थाना रायकोट के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक हरिंदर सिंह मात्र नौ हजार रुपए के लिए विपन कुमार से खफा था। उसने विपन कुमार को 14 जनवरी को और फिर 15 जनवरी को सुबह फोन किए। जब वह घर से चला गया तो उसके बाद से ही विपन का फोन बंद आने लगा।

कपड़ों से हुई शव की शिनाख्त

थाना सिटी में दर्ज गुमशुदगी की रिपोर्ट में दर्ज हुलिए से पता चला कि यह शव विपन कुमार का हो सकता है। जिस पर थाना सदर ने सूचना थाना सिटी को दी और उन्होने आगे की कार्रवाई शुरू की। विपन के परिजनों को पहचान के लिए बुलाया गया तो उन्होने कपड़ों और एक बाजू पर चोट के बाद लगे टांकों के निशान से पहचान कर ली। पुलिस ने विपन के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकाली तो आखरी फोन हरिंदर सिंह का निकला। उसी से बात करके विपन घर से निकला था।

आरोपित हरिंदर और विपन साथ करते थे काम

एएसआइ ने बताया कि विपन कुमार घरों की रंगाई-पुताई का ठेका लेता था। वह और हरिंदर सिंह पहले इक्कठे काम करते थे। इनका आपस में पैसे का लेन-देन था। हरिंदर सिंह ने विपन से नौ हजार रुपए लेने थे। इन पैसों को लेकर ही दोनों में तकरार हुई थी। उसी रंजिश में हरिंजर ने साजिश तहत विपन कुमार को फोन करके घर से बुलाया और रास्ते में उसकी हत्या कर शव बारदेके सेम पुल के पास फेंक कर फरार हो गया।

परिजनों व मजदूर यूनियन के सदस्यों ने थाने के बाहर किया प्रदर्शन

विपन के कत्ल की सूचना मिलने पर बड़ी तदाद में मजदूर और बिल्डिंग ठेकेदार यूनियन के प्रधान जिंदरपाल धीमान, ठेकेदार कशमीरी लाल सहित यूनियन के सदस्य थाने पहुंच गए। मामला उस समय पेंचीदा हो गया जब घरवालों कथित रूप से पकड़े गए आरोपित को उनके समक्ष लाने की मांग शुरू कर दी। पुलिस ने इसे मानने से इनकार कर दिया तो लोगों ने थाने के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया। हरिंदर के अन्य साथियों को भी गिरफ्तार करने की मांग की गई। पुलिस अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिलाया कि वह इस संबध में तेजी से काम कर रहे हैं। जो भी लोग विपन के कत्ल में शामिल होंगे उन सभी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!