संवाद सहयोगी, जगराओं : कांग्रेस सरकार के शासन में नगर कौंसिल जगराओं में जो भ्रष्टाचार का बोलबाला है, वह किसी से छिपा नहीं है। कौंसिल में भ्रष्टाचार इतना है कि नगर पार्षद और अधिकारी अपनी मर्यादा तक को भूल गए हैं।

यह आरोप पूर्व विधायक एसआर कलेर ने शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ सदस्यों के साथ की बैठक के दौरान लगाए। उन्होंने कहा कि नगर कौंसिल चुनाव में इस बार लोग कांग्रेस पार्षदों को मुंह नहीं लगाएंगे क्योंकि जिस तरह से शहर में लूट की गई है, उससे लोग बेहद नाराज हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि नगर कौंसिल में बिना कमीशन के कोई काम नहीं हो रहा। नक्शे पास कराने तक के लिए भी लोगों को भारी रकम अवैध तौर पर राशि खर्च करनी पड़ती है। नगर कौंसिल द्वारा मोहल्लों में बनाई अच्छी हालत वाली सड़कों को उखाड़ कर दोबारा बनाना यह साबित करता है दाल में कुछ काला है। उन्होंने कहा कि नगर कौंसिल में फैले भ्रष्टाचार का पर्दाफाश आने वाली नगर कौंसिल चुनाव में किया जाएगा।

पूर्व विधायक कलेर ने आरोप लगाया है कि जगराओं शहर बिकाऊ हो चुका है जिसका अब कोई वारिस नहीं है। पिछले समय में नगर कौंसिल की दुकानों की हुई अवैध रजिस्ट्री के मुद्दे पर कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं और नगर कौसिल का चुप्पी साध लेना बेहद निदनीय है। कांग्रेस के राज्य में जिन दुकानों पर लोग पिछले 40 वर्षो से बैठे थे और नगर कौंसिल को किराया दे रहे थे, उन दुकानों की रजिस्ट्री किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर हो जाने से अंदाजा लगाया जा सकता है सरकार का क्या हाल है। इस मौके पर मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन कंवलजीत सिंह मल्ला, जत्थेदार हरसुरिदर सिंह गिल, ब्लॉक समिति के पूर्व चेयरमैन दीदार सिंह मलिक, दीपेंद्र सिंह भंडारी और पार्षद अपार सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!