लुधियाना, जेएनएन। सेहत विभाग की टीम छपार मेले में पहुंची। जब टीम मेले में पहुंची, वहां बड़ी संख्या में फूड स्टाल लगे हुए थे। कोई स्टाल पर मिठाई बेच रहा था, तो कोई समोसे, पकौड़े और फास्ट फूड सहित दूसरा खाने-पीने का सामान। सेहत विभाग की टीम को देखते ही खाद्य विक्रेताओं में हड़कंप मच गया। कुछ तो अपनी दुकान छोड़कर भाग गए। जबकि जो वहां पर थे, वह भी सेहत विभाग के अधिकारियों को देखकर डरे हुए थे।

डीएचओ आदेश कंग व फूड सेफ्टी ऑफिसर योगेश गोयल ने एक-एक स्टाल पर जाकर जांच की। उन्होंने देखा कि मेले में कई मिठाई विक्रेता ऐसी मिठाइयां बेच रहे थे, जिसमें नॉन परमिटिड कलर इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा मिठाइयों पर मक्खियां भिनभिना रही थी और गंदगी भरी पड़ी थी। दोनों अधिकारियों ने करीब 60 किलो मिठाइयों को नष्ट करवाया और मिठाई विक्रेताओं को दोबारा से ऐसा न करने की चेतावनी दी।

इसके बाद टीम को एक अन्य स्टाल पर एक्सपायरी डेट के पैक्ड नमक की बिक्री होते हुए दिखी। यहां भी विभाग ने स्टाल पर मौजूद एक्सपायरी डेट के सारे नमक को तुरंत नष्ट करवाया गया। डीएचओ आदेश कंग ने मेले में खाद्य पदार्थ बेच रहे सभी विक्रेताओं को फूड सेफ्टी एंड स्टैंड‌र्ड्स एक्ट के बारे में बताया गया।

सभी को चेतावनी दी गई कि वह मेले में ऐसे खाद्य पदार्थो की बिक्री न करें, जो सेहत के लिए हानिकारक है। डॉ. कंग ने कहा कि विक्रेताओं को पहले समझाया गया है और नियमों की जानकारी दी गई है। इसके बाद भी अगर उन्होंने दोबारा से ऐसा किया, तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!