जेएनएन, मालेरकोटला (संगरूर)। मालेरकोटला के नजदीकी गांव कुठाला में पूर्व सैनिक के परिवार ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर सल्फास निकलकर आत्महत्या कर ली। सल्फास खाने से परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई, जबकि एक नाबालिग लड़के व लड़की की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

मरने वालों में पूर्व सैनिक की पत्नी, उसकी बेटी व पत्नी की मां शामिल हैं, जबकि उसके दो बच्चे अस्पताल में जिंदगी व मौत के बीच जूझ रहे हैं। पुलिस ने गांव में पहुंचकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल मालेरकोटला भेज दिया है। आत्महत्या के पीछे का कारण आर्थिक तंगी करार दिया जा रहा है, जबकि पुलिस मामले की जांच पड़ताल करने में जुट गई है।

गांव कुठाला का पूर्व सैनिक स्वर्गीय गुरप्रीत सिंह की करीब दो वर्ष पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी। उसकी मौत के बाद उसकी पत्नी सुखविंदर कौर अपने तीन बच्चे अमनजोत कौर (19) व अन्य दो बच्चों तथा अपनी मां हरमेल कौर (65) के साथ गांव कुठाला में ही रहते थे। शुक्रवार रात को पांचों ने आत्महत्या करने के लिए सल्फास खा ली, जिससे हरमेल कौर, उसकी लड़की सुखविंदर कौर, नाती अमनजोत कौर की मौत हो गई, जबकि दो नाबालिग बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है।

घटना का पता शनिवार सुबह चला। जब सुबह घऱ से कोई बाहर नहीं निकला तो आस पड़ोस के लोगों को घर में दाखिल होकर देखा तो सभी की लाशें कमरे में पड़ी हुई थी, जबकि दो बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई थी। लोगों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद बच्चों को अस्पताल में भर्ती करवाया, जबकि तीन की मौत हो चुकी थी।

लाशों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में भेज दिया गया है। थाना संदौड़ के एसएचओ यादविंदर सिंह ने बताया कि पुलिस ने दो बच्चों को अस्पताल में भर्ती करवा दिया है, जहां उनकी हालत स्थिर है। बाकी तीनों का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। प्राथमिक जांच में आशंका जताई जा रही है कि परिवार ने आर्थिक तंगी से आहत होकर आत्महत्या की है।

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Kamlesh Bhatt