जागरण संवाददाता, लुधियाना। सुच्चा राम लद्दड़ ने प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर अपनी पारी की शुरुआत लुधियाना से की थी। अब राजनीतिक पारी की शुरुआत भी वह लुधियाना से करने जा रहे हैं। एसआर लद्दड़ लुधियाना को खुद के लिए लकी मानते हैं, क्योंकि प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर शुरू की गई पारी उनकी काफी सफल रही। इसलिए लिए उन्होंने राजनीतिक पारी के लिए लुधियाना को चुना। भारतीय जनता पार्टी  (भाजपा) ने लद्दड़ काे गिल रिजर्व हलके से उम्मीदवार बनाया है। एसआर लद्दड़ 1991 बैच के आइएएस अफसर रहे हैं और 1992 में उन्हें पहली नियुक्ति लुधियाना में बतौर एसडीएम मिली। लंबे समय तक लुधियाना में एसडीएम रहे और उसके बाद अलग-अलग जिलों में एडीशनल डिप्टी कमिश्नर के पद पर तैनात रहे।

यह भी पढ़ें-पंजाब के बलजीत को घोड़ों ने किया मालामाल, शौक को काराेबार में बदल हर महीने कर रहे लाखों की कमाई

चार जिलाें में रहे हैं डीसी

चार जिलों बठिंडा, मानसा, संगरूर व फिरोजपुर में बतौर डीसी भी काम किया। पटियाला डिवीजन में डिवीजनल कमिश्नर के तौर पर भी काम किया और बाद में अलग-अलग विभागों में बतौर प्रिंसिपल सेक्रेटरी काम किया। लंबा और सफल प्रशासनिक अनुभव राजनीति में कितना कारगर होगा यह तो मतदाता तय करेंगे। लद्दड़ किसान परिवार में पैदा हुए और उन्होंने थापर कालेज पटियाला से बीटेक की थी। इसके बाद इंजीनियरिंग कालेज चंडीगढ़ से मास्टर आफ इंजीनियरिंग की डिग्री ली। लद्दड़ 2019 में रिटायर हुए तो उन्होंने किरत किसान शेर-ए-पंजाब पार्टी का गठन किया और 2021 में पार्टी का विलय भाजपा में कर दिया। लद्दड के चुनावी समर में उतरने के बाद गिल विधानसभा हल्के में मुकाबला राेचक हाेने के आसार है। लद्दड आम आदमी पार्टी और अकाली दल के लिए कड़ी चुनाैती पेश कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें-Punjab Election 2022: पंजाब लोक कांग्रेस ने लुधियाना में चार सीटाें पर उतारे उम्मीदवार, जानें किसे कहां से मिला टिकट