जागरण संवाददाता, बठिंडा। Farmers Protest: गुलाबी सुंडी के कारण नरमा की खराब हुई फसल का मुआवजा लेने के लिए किसानों की ओर से शहर में लोगों को दीवाली की बधाई देने आए वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल का विरोध किया। किसानों को पता लगा कि वित्त मंत्री पहले शहर के धोबी बाजार में आने वाले हैं। इसके बाद किसान वहां पर इकट्ठा हो गए। लेकिन उनका कार्यक्रम धोबी बाजार से बदल कर बला राम नगर में हो गया। इसके बाद किसान धोबी बाजार से बला राम नगर की तरफ चले गए। मगर वित्त मंत्री उनके आने से पहले ही निकल गए थे।

किसानों ने वहां पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। किसान यूनियन के नेता अजयपाल ने बताया कि वह नरमा की फसल का मुआवजा लेने के लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन अभी तक सरकार की ओर से उनको कोई भी मुआवजा नहीं दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों को घटिया बीज सप्लाई करने के लिए भी पंजाब सरकार के मंत्रियों का ही हाथ है।

यह भी पढ़ें-गर्म सरिए से पीटकर पीठ पर लिखा 'आतंकवादी' पंजाब की बरनाला जेल में बंद कैदी ने लगाए संगीन आरोप

मुआवजा के नाम पर किसानों से मजाक करने का आराेप

किसान नेताओं का कहना है कि पंजाब सरकार सिर्फ 12 हजार रुपये का मुआवजा देकर किसानों के साथ मजाक कर रही है। जिसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने मांग की है कि किसानों को 60 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से फसल का मुआवजा देने के अलावा मजदूर परिवारों को 30 हजार रुपये प्रति परिवार दिया जाए। इसके साथ ही घटिया बीज सप्लाई करने वाले वालों पर कार्रवाई की जाए और जिन किसानों ने नरमा की फसल खराब होने पर आत्महत्या की है, उनके परिवार को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा देने के साथ ही परिवार के एक एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए।

यह भी पढ़ें-Weather Forecast Punjab: किसानों के लिए खुशखबरी, धान की कटाई में नहीं आएगा अडंगा; एक हफ्ते तक खिलेगी तेज धूप

Edited By: Vipin Kumar