जागरण संवाददाता, लुधियाना। पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में किसानों को हुई परेशानी के बाद सीएम भगवंत मान को विरोध का सामना करना पड़ा है। किसानों का कहना है कि मेला उनके लिए लगाया गया था और उन्हें ही परेशान किया जा रहा है। कभी किसी गेट से तो कभी किसी गेट से जाने के लिए कहा जा रहा है। परेशान हुए किसान जब ट्रैक्टरों की एग्जीबिशन देखकर बाहर आने लगे तो किसानों ने विरोध किया और नारे भी लगाए गए हैं। किसानों का कहना था कि उन्हें घंटों इंतजार करना पड़ा है।

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शुक्रवार को पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी में किसान मेले का उद्घाटन किया था। इस मौके मुख्यमंत्री भगवंत मान ने किसानों को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में किसानों से कहा कि किसी भी समस्या को हल करने के लिए हम बैठे हैं। सीएम ने कहा कि आप खेतों में जाएं और उनका इंतजार न करें। किसान के खेत में सुंडी लग जाए और लुधियाना विशेषज्ञों के पास पहुंचे, तब हल ढूंढा जाएगा। तब तक किसान खत्म हो जाएगा। यूनिवर्सिटी को ही खेतों और समस्याओं के पास जाना होगा।

सीएम भगवंत मान ने कहा कि पराली पंजाब की सबसे बड़ी समस्या है। इसके निपटारे के लिए पंजाब में बायोगैस प्लांट लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लहरागागा में एक प्लांट जल्द शुरू हो जाएगा। इस प्लांट में कुछ अड़चने थी, जो सरकार ने समाप्त कर दी है। एक दिन में 33 टन पराली इसमें उपयोग होगी। उन्होंने कहा कि कृषि के लिए किसान जो पालिसी कहेंगे, उस पर ही सरकार उनके साथ चलेगी।

यह भी पढ़ें-  CM Bhagwant Mann ने पीएयू लुधियाना में किसान मेले का किया उद्घाटन, बोले- एसी कमरों से निकल खेतों में जाएं कृषि अफसर

Edited By: Vinay Kumar