जागरण संवाददाता, लुधियाना। किसान मजदूर संयुक्त मोर्चा के भारत बंद के समर्थन में एनआरएमयू लुधियाना की समस्त शाखा/मंडल पदाधिकारियों ने रेलवे स्टेशन पर रोष प्रदर्शन किया। सोमवार काे मंडी कॉलोनी यूनियन ऑफिस से रोष मार्च करते हुए एनआरएमयू के साथी मेन स्टेशन लुधियाना के गेट पर पहुंचे।

इस दाैरान मीटिंग में विशेष तौर पर आए कामरेड कुलविंदर सिंह गरेवाल डिवीजन प्रेसिडेंट और डिविजनल असिस्टेंट प्रेसिडेंट अमर सिंह कामरेड महेंद्र मीणा, कामरेड घनश्याम सिंह और कामरेड गौरव शर्मा ने मीटिंग को संबोधित किया। चारों ब्रांच के प्रधान कामरेड राजेश बग्गा, कामरेड अशोक कुमार, कामरेड आरके सूद, कामरेड नरेंद्र सिंह, कामरेड गुरदेव सिंह, कामरेड पलविंदर गरचा, कामरेड अमृत सिंह, कामरेड प्रखर और लेडीज विंग से कामरेड सुषमा, कामरेड रेनू साथियों के साथ रोष प्रदर्शन में शामिल हुए। यूनियन का कहना है कि किसानाें की मांगे जायज है। माेदी सरकार काे कृषि सुधार कानूनाें काे तुरंत रद करना चाहिए, ताकि किसान आंदाेलन खत्म हाे सके।

यह भी पढ़ें-Bharat Bandh: लुधियाना के एंट्री प्वाइंट्स पर किसानों ने दिए धरने, ट्रैक्टरों पर सवार युवाओं ने बंद कराई दुकानें व दफ्तर

 

यह भी पढ़ें-किसानों ने मुल्लांपुर मुख्य चौक में दिया धरना, मोदी सरकार खिलाफ की नारेबाजी

मुल्लांपुर दाखा। संयुक्त किसान मोर्चा दिल्ली की तरफ दिए गए भारत बंद के आह्वान पर कस्बे की दुकानें मुकम्मल ताैर पर बंद रही। वहीं किसानों ने भी मुख्य चौक में धरना देकर आवाजाही ठप रखी। धरने के दौरान रूप बसंत सिंह बड़ैच, सतनाम सिंह बड़ैच, गुरमेल सिंह मैलडे और बलदेव सिंह पमाल ने कृषि सुधार कानूनाें काे रद करने की मांग करते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस पूरी तरह मुस्तैद थी। इसके अलावा देहात के कई और इलाकाें में भी किसानाें के हक में प्रदर्शन किए गए।

यह भी पढ़ें-Bharat Bandh Punjab: किसान आंदोलन से 22 ट्रेनें रद, 6 शार्ट टर्मिनेट; लुधियाना में बसों का चक्का जाम

 

Edited By: Vipin Kumar