संवाद सहयोगी, जगराओं: निर्वाचन क्षेत्र की विधायक सर्वजीत कौर माणूके ने पंजाब जलापूर्ति एवं सीवरेज बोर्ड के पत्र की प्रति दिखाते हुए कहा कि पंजाब राज्य में ट्यूबवेल्स के माध्यम से पानी की आपूर्ति के कारण भूजल स्तर कम होता जा रहा है।

इस कमी को रोकने के लिए सबमर्सिबल मोटर या ट्यूबवेल की बजाय नहर के जल स्त्रोतों के माध्यम से पानी की आपूर्ति करने के लिए अमरुत-2.0 योजना पंजाब सरकार की ओर से शुरू की जा रही है। योजना की पहली किश्त के तहत 87 शहरों में अमृत-2.0 लागू किया जाएगा। विधायक माणूके ने बताया कि नगर कौंसिल जगराओं के कार्यकारी अधिकारी मनोहर सिंह को निर्देश जारी किया गया है कि जगराओं के लोगों को स्वच्छ और शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए अमृत-2.0 योजना के तहत नहर जल परियोजना से जोड़ा जा सकता है। विधायक ने कहा कि अमरुत-2.0 योजना के तहत 37.56 करोड़ रुपये की लागत से जगराओं के निवासियों को नहर से स्वच्छ और शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होने कहा कि जगराओं शहर के भीतर कई इलाकों में लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। इस परियोजना के पूरा होने के बाद नगर कौंसिल द्वारा अपने स्तर पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और अन्य संबंधित कार्यों का रखरखाव कार्य भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पिछले 75 वर्षों से अकाली और कांग्रेस उत्तर काटो, में चडां, का खेल खेलती रही हैं और विकास के नाम पर रिक्त स्थान तभी भरती थीं जब चुनाव नजदीक थे लेकिन अब पंजाब के लोगों ने 2022 में एक नए युग की शुरुआत करते हुए आम आदमी पार्टी की सरकार बनाई है। इस मौके प्रोफेसर सुखविदर सिंह, कुलविदर सिंह काला, करम सिंह सिद्धू, अमरदीप सिंह तोरे, सरपंच सुरजीत सिंह जनेतपुरा, हरप्रीत सिंह, सूबेदार कमलजीत सिंह हंसरा, भूपिदरपाल सिंह बराड़, छिद्रपाल सिंह मीनियां आदि भी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran