जेएनएन, लुधियाना। पंजाब में पहले ही नशे को लेकर सरकार लड़ाई लड़ रही है ऊपर से रेव पार्टियों में किए जाने वालेे नशेे की बरामदगी से पुलिस सकते में है। रेव पार्टी शराब, ड्रग्‍स, म्‍यूजिक, नाच गाना और अश्लीलता का कॉकटेल होता है। ये पार्टियां बड़े गुपचुप तरीके से आयोजित होती हैं और जिनको बुलाया जाता है वह अन्य किसी को इसकी भनक नहीं लगने देते हैंं। तेज रोशनी और धमाकेदार संगीत, बिना लय ताल के थिरकते नौजवान, लहराते और एक-दूसरे से टकराते जिस्म, हर तरफ धुआं ही धुआं, फिजा में तैरती तीखी और नशीली गंध, कुछ ऐसा ही होता है रेव पार्टी का नजारा। एसटीएफ द्वारा शिमलापुरी में पकड़े गए तस्कर से पूछताछ के बाद पुलिस अब चौकन्नी हो गई है।

मेट्रो सिटीज में रेव पार्टियों में युवाओं की तरफ से किया जाने वाला मेथामफेटामाइन नशा महानगर में होने लगा है। यह काफी चिंतित करने वाला मामला है। एसटीएफ की ओर से शिमलापुरी में पकड़े गए तस्कर ने यह पर्दाफाश किया। पुलिस ने उससे 100 ग्राम मेथामफेटामाइन और एक किलो हेरोइन बरामद की है। यह मामला उजागर होने के बाद पुलिस की चिंता और भी बढ़ गई है। इससे पहले मेथामफेटामाइन नशा शहर से पकड़ा गया है, मगर शहर के नशेड़ियों द्वारा इसके सेवन की बात अब सामने आई है।

एआइजी स्नेहदीप शर्मा के अनुसार एसटीएफ की विशेष टीम ने रविंदर सिंह उर्फ निक्का निवासी शिमलापुरी को काबू किया है। उसने अपनी इनोवा गाड़ी की ड्राइवर सीट के फुट मैट के नीचे बिछाकर यह नशा रखा हुआ था। गाड़ी प्लॉट में खड़ी थी और सूचना थी कि नशा इसमें है। इंस्पेक्टर हरबंस सिंह की अगुआई वाली पुलिस टीम ने उसे पकड़ने के लिए लंबा इंतजार किया, जैसे ही रविंदर गाड़ी में बैठा तो पुलिस ने उसे काबू कर लिया। उसके पास से एक किलो हेरोइन और 100 ग्राम मेथामफेटामाइन आइस बरामद हुई है। पुलिस को उसके बारे में सुराग कई नशेड़ियों से मिला था, मगर वह किसी को अपनी पहचान नहीं बताता था। उसे अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया गया है।

दिल्ली से लाकर शहर में थोक के दाम पर बेचता था

प्राथमिक पूछताछ में सामने आया है कि वह यह नशा दिल्ली से लेकर आता था और शहर में थोक के भाव में बेचता था। उसके खिलाफ नशा तस्करी के करीब छह से भी ज्यादा मामले हैं और दो में उसे सजा भी हो चुकी है। वह आठ माह पहले ही जेल से आया था और फिर नशा तस्करी करने लगा था।

कई केमिकल बनाकर तैयार होता है मेथामफेटामाइन

एआइजी के अनुसार यह बेहद घातक मेथामफेोटामाइन कई केमिकल बनाकर तैयार किया जाता है। यह हेरोइन से भी घातक नशा है। यह नशा अब तक मेट्रो शहरों की रेव पार्टियों में इस्तेमाल होता रहा है। अब इसके शहर के नशेडिय़ों द्वारा सेवन करने की बात सामने आई है। यह काफी घातक संकेत हैं।

अब रात की पार्टियों पर नजर रखेगी पुलिस

पुलिस अब शहर में रात के समय क्लबों में होने वाली पार्टियों पर निगाह रखेगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं यहां की पार्टियों में तो इसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। अगर यह चलन शहर में शुरू होता है तो इसके नतीजे काफी घातक होंगे। पुलिस रविंदर से पूछताछ करेगी कि वह कहीं इस तरह की पार्टियों का आयोजन करने वालों को तो इसकी सप्लाई नहीं देता था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!