जागरण संवाददाता, लुधियाना। मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के तहत ली गई परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाएगा या नहीं, यह अभी भी अधर में ही है। परीक्षा 3 अक्तूबर को ली गई थी जिसके 20 दिनों के बाद परिणाम घोषित किया जाना होता है। अब नवंबर माह भी बीतने को है लेकिन मेरिटाेरियस सोसायटी की ओर से परिणाम घोषित नहीं किया गया है।

जिन बच्चों ने मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए परीक्षा दी थी, वह भी इन दिनों परेशानी में है कि आखिर कब परिणाम घोषित होगा और कब काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू होगी व इसके बाद कब से क्लासिस लगेगी व कब सिलेबस पूरा होगा क्योंकि मार्च अप्रैल में तो फाइनल परीक्षाएं होती है। इससे पहले विभाग ने मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए नौ बार रजिस्ट्रेशन अवधि बढ़ाई थी और अब रिजल्ट जारी करने में भी देरी की जा रही है।

बता दें कि मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए होने वाले टेस्ट को पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड(पीएसईबी) ने आयोजित किया था और टेस्ट का परिणाम तैयार करना था। परिणाम को फाइनल मुहर मेरिटोरियस सोसायटी की ओर से लगाई जानी थी। द सोसायटी फार प्रमोशन आफ क्वालिटी एजूकेशन फार वूअर एंड मेरिटोरियस स्टूडेंटस आफ पंजाब की ओर से राज्य भर में दस मेरिटोरियस स्कूल चलाए जा रहे हैं जोकि लुधियाना, बठिंडा, जालंधर, अमृतसर, मोहाली, फिरोजपुर, पटियाला, संगरूर, गुरदासपुर तथा तलवाड़ा में है। 11वीं और 12वीं कक्षा में दाखिले के लिए इन स्कूलों में विभिन्न स्ट्रीम की 4600 सीटें हैं।

पीएसईबी दो बार सोसायटी को भेज चुका परिणाम

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) के चेयरमैन डा. योगराज सिंह ने कहा कि 3 अक्तूबर को बोर्ड ने मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए कामन एंट्रेंस टेस्ट लिया था। बोर्ड ने टेस्ट के बाद अक्तूबर माह में ही परिणाम तैयार कर मेरिटोरियस सोसायटी को भेज दिया था। इसके बाद अब दोबारा सोसायटी ने इसी सप्ताह फिर से बच्चों का रिजल्ट मांगा था, जिसे अब फिर से भेज दिया गया है।

आज या कल में हो जाएगा परिणाम घोषित

पंजाब मेरिटोरियस स्कूल्स के डायरेक्टर फिलहाल छुट्टी पर है। उनकी जगह एसिसटेंट प्रोजेक्ट डायरेक्टर का अतिरिक्त चार्ज संभालने वाले गुरजीत सिंह ने कहा कि आजकल में मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए ली गई परीक्षा का परिणाम अपलोड कर दिया जाएगा। उनके मुताबिक परिणाम घोषित होने के एक-दो दिनों बाद काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि इससे पहले एसिसटेंट प्रोजेक्ट डायरेक्टर रहे इंद्रपाल सिंह मल्होत्रा ने कहा था कि अगर क्लासिस लगाने में देरी होती है तो अतिरिक्त क्लासिस भी लगाई जाएंगी।

Edited By: Vipin Kumar