लुधियाना, जेएनएन। विधानसभा उप चुनाव के तहत आचार संहिता लागू होते ही थाना दाखा में तैनात एसएचओ इंस्पेक्टर प्रेम सिंह अब चुनाव आयोग के निशाने पर हैं। आयोग ने डीजीपी पंजाब से 24 घंटे में मामले की जांच रिपोर्ट देने के निर्देश जारी किए हैं। डीजीपी ने मामले की जांच एसएसपी जगरांव को सौंपी जिसे उन्होंने डीएसपी दाखा गुरबंस बैंस के सुपुर्द कर दिया। बैंस ने मंगलवार दोपहर मामले में एसएचओ की शिकायत करने वाले मुल्लापुर वासी जगसीर सिंह के बयान दर्ज करवाए।

जानकारी देते हुए जगसीर सिंह ने बताया कि लुधियाना नगर निगम चुनाव के दौरान प्रेम सिंह थाना डेहलों प्रभारी थे। तब उन्होंने एक प्रत्याशी के पति को थाने बुलाकर धमकाया और चुनाव न लड़ने की हिदायत दी थी जिसका ऑडियो व वीडियो वायरल होने के बाद प्रेम सिंह को सस्पेंड कर दिया था। अब जब मुल्लापुर दाखा सीट से उपचुनाव होने जा रहे हैं तो आचार संहिता लागू होते ही उन्हें थाना दाखा प्रभारी नियुक्त कर दिया। इससे पहले तैनात अजैब सिंह को बिना कारण हटा दिया। इंस्पेक्टर प्रेम सिंह इससे पहले भी दाखा थाना प्रभारी रह चुके हैं जिसके चलते आम लोगों में उनका काफी प्रभाव है। इसका फायदा उठाने के लिए कांग्रेस सरकार ने उन्हें फिर से वहां का प्रभारी नियुक्त किया है। आम जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए 23 सितंबर को भारत चुनाव आयोग को मेल के जरिए उक्त शिकायत भेजी थी जिस पर कड़ा संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने डीजीपी पंजाब से 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी है।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!