लुधियाना, [जितेंद्र सिंह]। पुराने दिनों में जब टीवी पर रामायण और महाभारत चलती थी तो बाहर क‌र्फ्यू जैसी स्थिति हो जाती थी। महाभारत देखो तो शुरुआत में आवाज आती है, मैं समय हूं और मैं दोहराता हूं। यह वाकया आज लगे क‌र्फ्यू के समय में एकदम सटीक बैठ रहा है। जिंदगी के लिए आज क‌र्फ्यू लगा है और लोग घरों में अपने डीडी वन चैनल पर रामायण और टीवी पर डीडी भारती चैनल पर महाभारत देख रहे हैं। सालों बाद फिर लौट आया है वही पुराना मंजर।

बुजुर्गो ने तब और अब की महाभारत और रामायण की दास्तां सुनाई तो लगा कि फिर लौट आए अच्छे दिन। जब टीवी पर सिर्फ दूरदर्शन ही चलता था और उस पर महाभारत और रामायण चलती थी तो देखने वालों का हुजूम लग जाता था। लोग अपने काम रामायण और महाभारत आने से पहले ही निपटा लेते थे। तब के समय में सिर्फ कुछ ही लोगों के पास टीवी होता था। तब लोगों मे धार्मिक धारावाहिक देखने की रूचि भी होती थी। उसके बाद डिश आ गया और तरह-तरह के धारावाहिक आने लगे। ट्रेंड बदलता रहा लेकिन कई सालों बाद फिर पुरानी यादें ताजा हो गई। बच्चे जो धार्मिक सरोकार भूल गए थे, क‌र्फ्यू के ही बहाने सही, पर अब सीख तो रहे हैं।

बुजुर्गों को याद आए पुराने दिन

हैबोवाल निवासी 80 वर्षीय चंद्रकांता ने जब वही पुरानी रामायण देखी तो उनकी आंखों से आंसू छलक गए। घर के सारे सदस्यों को बताया कि उन्हें रामायण के सारे एपिसोड बडे़ ध्यान से देखे हैं। पूरी कहानी याद है। अब फिर से इसका प्रसारण देखकर तो पुराने दिन याद आ गए। जब रामायण और महाभारत का प्रसारण होता था तो कैसे वह घर के कामकाज छोड़कर रामायण देखतीं थीं और फिर अपनी सास की खरीखोटी सुनती।

बच्चों को बता रहे रामायण का पाठ

न्यू आजाद नगर निवासी अमर अरोड़ा ने पोती मान्या को रामायण देखने के दौरान बताया कि उन्हें पूरी रामायण के सारे एपिसोड पता हैं। आज का एपिसोड देखने के बाद जब पोती को आगे की कहानी की जिज्ञासा हुई तो दादी ने आगे आने वाले एपिसोड के बारे में बताया। इस दौरान मान्या के साथ फ्रेंड्स हर्ष और दक्ष ने भी रामायण और महाभारत देखी। धार्मिक सरोकार सीख रहे बच्चे ये चाहे क‌र्फ्यू की मजबूरी ही सही लेकिन इसी बहाने बच्चे धार्मिक सरोकारों से रूबरू हो रहे हैं, क्योकि वर्तमान समय की चकाचौंध में सब धार्मिक सरोकार को भूलते जा रहे हैं। अब टीवी पर बच्चे सिर्फ कार्टून चैनल ही देखने में या मोबाइल पर गेम्स खेलने में व्यस्त रहते हैें। क‌र्फ्यू में रामायण और महाभारत दोबारा आने से इसी बहाने बच्चे घरों में व्यस्त रहेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!