जागरण संवाददाता, लुधियाना। Punjab Roadways Strike: कॉन्ट्रैक्ट बस मुलाजिमों की हड़ताल नौवें दिन में प्रवेश कर गई है। आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ मुलाजिमों के प्रतिनिधियों की मीटिंग होनी है। मीटिंग के बाद यह साफ हाे जाएगा कि सरकार कॉन्ट्रैक्ट मुलाजिमों की मांगाें काे मानेगी या नहीं। यूनियन का कहना है कि सरकार की तरफ से मांगें पूरी नहीं करने पर बसों का परिचालन नहीं किया जाएगा।

यूनियन नेता दिलीप सिंह शमशेर सिंह सतनाम सिंह जसवीर सिंह ने कहा कि उनका शिष्टमंडल चंडीगढ़ में मौजूद है और सरकार से वार्ता को तैयार है। वार्ता पूरी होने के बाद सार्वजनिक जाने की जानकारी होगी कि बसों का परिचालन कब से शुरू हो रहा है। यूनियन नेताओं ने कहा कि सरकार जब तक कॉन्ट्रैक्ट मुलाजिमों की सभी मांगों को पूरा नहीं करती तब तक बसों का चलना संभव नहीं है। वहीं मुलाजिमों ने मंगलवार काे लुधियाना बस स्टैंड पर बैठक कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

 

यह भी पढ़ें-Honey Trap: पाकिस्तानी युवती ने सैन्य Whatsapp ग्रुपों में लगाई सेंध, लुधियाना के जसविंदर से OTP मंगवा आपरेट कर रही थी नंबर

इंक्वायरी काउंटर में काेई नहीं उठा रहा फाेन

बस स्टैंड पर इंक्वायरी काउंटर में दो फोन लगे है, लेकिन इसमें तैनात मुलाजिम यात्रियों को काेई जानकारी नहीं दे रहे हैं। यात्री संभल कुमार व  विवेक कुमार ने बताया कि बस स्टैंड इंक्वायरी सेंटर के फोन पर लगातार कॉल करने के बाद कोई भी फोन उठाने वाला नहीं है, जिससे परेशानी होती है। उन्होंने परिवहन विभाग के महाप्रबंधक से मांग की है कि हड़ताल के दौरान बस स्टैंड पर सभी व्यवस्था पुख्ता होनी चाहिए ताकि यात्रियों की परेशानियाें का सामना न करना पड़े। गाैरतलब है कि बसाें का परिचालन नहीं हाेने से यात्री परेशान हाे रहे हैं।

यह भी पढ़ें-Strike In Ludhiana: लुधियाना में 22 व 23 सितंबर को कलम छोड़ हड़ताल करेंगे DC दफ्तरों के कर्मी

 

Edited By: Vipin Kumar