लुधियाना, जेएनएन। जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष जीके धीर व सदस्य ज्योत्स्ना ने रेलीगेयर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी गुरुग्राम को पीड़ित उपभोक्ता को 2 हजार रुपया हर्जाना भरने का आदेश दिया है। फोरम ने अपने फैसले में ठहराया की कंपनी की वजह से बेवजह उपभोक्ता को मुकदमेबाजी में उलझना पड़ा। फोरम ने यह फैसला पंकज निवासी हीरा नगर काकोवाल रोड लुधियाना की तरफ से दायर शिकायत का निपटारा करते हुए सुनाया।

नोटिस मिलने पर क्लेम देने को राजी हुई इंश्योरेंस कंपनी

उपभोक्ता ने उक्त इंश्योरेंस कंपनी से मेडिकलेम इंश्योरेंस पॉलिसी ली थी। किसी कारणवश उसे मोहनदेई ओसवाल अस्पताल में भर्ती होना पड़ा और उसके इलाज पर 31,264 रुपये खर्च आया। जिस संबंध में उसने इंश्योरेंस कंपनी के पास अपना क्लेम दायर कर दिया। परंतु कुछ अरसे बाद इंश्योरेंस कंपनी ने उक्त क्लेम को रद्द कर दिया। जिसके बाद उपभोक्ता ने कंपनी को कानूनी नोटिस भेजा। जब कोई हल नहीं निकला तो उसने उपभोक्ता फोरम के समक्ष केस दायर कर दिया। नोटिस मिलने पर उक्त इंश्योरेंस कंपनी फोरम के समक्ष पेश हुई और उन्होंने कहा कि वह उपभोक्ता को क्लेम देने के लिए तैयार है। जिस पर अदालत ने कहा कि कंपनी उपभोक्ता को क्लेम तो अदा करेगी साथ में उसको हुई मानसिक परेशानी वह बेवजह मुकदमेबाजी के चलते दो हजार रुपये हर्जाना भी अदा करेगी।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!