खन्ना, (लुधियाना) जेएनएन। शहर की सात शिक्षण संस्थाओं को चलाने वाली प्रतिष्ठित एएस मैनेजमेंट पर रविवार को कांग्रेस का कब्जा हो गया। 25 जनवरी को आए मैनेजमेंट चुनाव में कांग्रेस और भाजपा समर्थित पैनल 10-10 के साथ बराबरी पर थे। लेकिन, भाजपा समर्थित पैनल से चुनाव लड़ने वाले बरिंदर डेविट ने रविवार को पलटी मार दी। उन्होंने प्रधान पद के चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवार शमिंदर सिंह मिंटू को वोट दिया तो उसके बाद भाजपा समर्थित पैनल के बाकी नाै सदस्यों ने वाकआउट कर दिया।

डेविट के पलटी मारने के बाद भाजपा को बेशक बड़ा झटका लगा है। इसके बाद बरिंदर डेविट को मैनेजमेंट का महासचिव चुन लिया गया। मैनेजमेंट के अन्य पदाधिकारियों में सुशील कुमार शीला को उप प्रधान, तजिंदर शर्मा को संयुक्त महासचिव, सुशील कुमार शीला को ही इंटरनल ऑडिटर, तजिंदर शर्मा को एएस कालेज का सचिव, अमित वर्मा को एएस कालेज फ़ॉर वुमेन का सचिव, दिनेश कुमार शर्मा को एएस कालेज ऑफ एजुकेशन का सचिव, संजीव साहनेवालिया को एएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स का सचिव, सुमित लूथरा को एएस सीनियर सेकेंडरी स्कूल का मैनेजर, नवदीप शर्मा को एएस माडर्न सीनियर सेकेंडरी स्कूल का सचिव, संजीव साहनेवालिया को एमजी चोपड़ा एएस सीनियर सेकेंडरी स्कूल का मैनेजर लगाया गया है।

आप के डेविट भाजपा पैनल से लड़े चुनाव, अब कांग्रेस का साथ

भाजपा पैनल से चुनाव लड़ने और अब पलटी मारने वाले बरिंदर डेविट पहले कांग्रेस में हुआ करते थे। इसके बाद वे आप में शामिल हो गए। मैनेजमेंट का चुनाव वे भाजपा समर्थित पैनल से लड़े और जीतने के बाद फिर कांग्रेस का साथ दे दिया। मैनेजमेंट चुनाव 10-10 से टाई होने के बाद डेविट को भाजपा पैनल में सबसे कमजोर कड़ी माना जा रहा था। लेकिन, भाजपा पैनल को आखिर तक इसकी भनक नहीं लगी कि डेविट की कांग्रेस समर्थित पैनल से सेटिंग हो चुकी है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021