जागरण संवाददाता, लुधियाना : दबंगों द्वारा बीच गली में विधवा महिला से बर्बरता, दुष्कर्म का प्रयास व अगवा कर मारपीट के मामले में दोराहा पुलिस की मामूली कार्रवाई पर महिला आयोग ने कड़ा संज्ञान लिया। एसएसपी खन्ना को मामले की पूरी जांच करके 10 दिन में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश जारी किए हैं। साथ ही कहा है कि यदि मामले को लेकर पहले कोई पड़ताल की हो तो उसे भी साथ में संलग्न किया जाए।

यूनिवर्सल ह्यूमन राइट्स आर्गेनाइजेशन के प्रधान सतनाम सिंह धालीवाल ने बताया, दो आरोपित गली में घसीटते हुए महिला को अपने घर ले गए। पत्नियों के सामने दुष्कर्म का प्रयास किया। समाज में उसे जलील किया। यह सारी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई जो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुई। दूसरी ओर, थाना दोराहा पुलिस इस मामले को न तो अगवा, न ही दुष्कर्म प्रयास मान रही है।

एक मई को दोराहा के गांव गिदड़ी की विधवा महिला से उसकी गली के ही दो लोगों ने गाली गलौज किया व जान से मारने की धमकियां दीं। पीड़िता के बेटे ने मामले की शिकायत 112 व 181 पर कर दी। अगली सुबह जब महिला घर में झाडृू लगा रही थी तो उसी समय आरोपित अजमेर सिंह व अमनदीप सिंह उसे घसीटते हुए गली में ले गए जहां दोनों की पत्नियां बलजिदर कौर व रमनदीप कौर भी आ गईं। गली में ही अजमेर सिंह ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया। इसके बाद उसे घसीटते हुए घर ले गए जहां उसके कपड़े फाड़कर मारपीट की गई। पीड़िता ने एसएसपी खन्ना को भी मामले की शिकायत दी जिस पर पुलिस ने मामले में धारा 452 (घर में घुसकर हमला करना) और जोड़ दी मगर अगवा करने तथा दुष्कर्म प्रयास की धारा नहीं लगाई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!