जेएनएन, मुल्लांपुर दाखा : विगत दिवस ग्रामीण विकास और पंचायत विभाग पंजाब की ओर से गांव इस्सेवाल के सरपंच हरिंदर सिंह और पंच हरप्रीत सिंह को गांव की शामलात पर कब्जा करने के आरोप में सस्पेंड करने का मामला गर्मा रहा है। सरपंच एवं पंच ने इसे मौजूदा सरकार की धक्केशाही बताया है।

हलका दाखा के विधायक मनप्रीत सिंह अयाली ने गांव इस्सेवाल में पंचायत और गांव वासियों के सामने पत्रकारों को बताया कि यह मुख्यमंत्री के एक ओएसडी की तरफ से की जा रही धक्केशाही है, क्योंकि बिना कोई जांच किए इस मामले को सिर्फ भरोसेयोग सूत्रों के हवाले से ही फैसला लिया गया है। अयाली ने कहा कि वास्तव में गांव की सोसायटी में कांग्रेस का कोई सदस्य नहीं और पंचायत चुनाव में ब्लाक प्रधान की हार के अलावा हलका दाखा के उपचुनाव में ओएसडी की तरफ से हुई अपनी हार का बदला लिया जा रहा है। उन्होंने इस मामले को विधानसभा में उठाने और जरूरत पड़ने पर हाईकोर्ट तक जाने का एलान भी किया।

अयाली ने कहा कि अगर कांग्रेस नेता एक इंच जमीन पर भी नाजायज कब्जे के आरोप साबित कर दिखाएं तो वह जवाबदेह होंगे। इस मौके सरपंच हरिंदर सिंह और सोसायटी प्रधान गुरदीप सिंह दीपा ने कहा कि मुख्यमंत्री के किसी ओएसडी का यह अधिकार नहीं कि वह किसी भी सरपंच को सस्पेंड करवा दे बल्कि उसका फर्ज तो ग्रांटें लाकर विकास करने का बनता है। उन्होंने कहा कि हम धक्केशाहियों की परवाह नहीं करने वाले अकाली हैं। इस मौके गुरधन्न सिंह, गुरविंदर सिंह गोलू, बलजिंदर सिंह गोला, जगवंत सिंह, कुलदीप सिंह इस्सेवाल, तेजा सिंह प्रधान, कुलदीप सिंह खालसा, नंबरदार जगरूप सिंह, प्रधान गुरिंदर सिंह, पंच दविंदर सिंह राजू और बलजिंदर सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!