संवाद सहयोगी, जगराओं। जगराओं में अपनी पत्नी को माता-पिता के साथ मिलकर पत्नी को दहेज के लिए तंग परेशान और मारपीट करने के आरोप में उनके खिलाफ थाना हठूर में दहेज प्रताड़ना और साजिश के तहत धाराओं अधीन मुकदमा दर्ज किया गया है। एएसआई कुलदीप कुमार ने बताया कि शिकायतकर्ता जसप्रीत कौर निवासी गांव लखा ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया कि उसकी शादी सुखदीप सिंह निवासी गांव बुर्ज कलारा के साथ मार्च 2021 से सिख रीति रिवाज से हुई थी। मेरे ससुराल परिवार की मांग के अनुसार मेरे माता पिता ने हमारी शादी नत पैलेस मानुके में की थी। मेरी शादी पर हमारा 10 लाख रुपए के करीब खर्च हुआ था। शिकायतकर्ता ने कहा कि उसकी 12वीं की पढ़ाई के बाद आईलेट्स की हुई थी। शादी से पहले हमारी आपस में यह बात तय हुई थी कि मेरे विदेश जाने पर सारा खर्च उसका ससुराल परिवार करेगा। जिस पर मेरे ससुराल परिवार ने हमारी शादी से पहले ऑस्ट्रेलिया का वीजा लगवाने के लिए 40 हजार रुपए फीस भरी थी लेकिन मेरा ऑस्ट्रेलिया का वीजा रिफ्यूज हो गया। फिर इन्होंने कनाडा जाने के लिए 45 हजार रुपए फीस भरी थी।

जसप्रीत कौर ने कहा कि उनकी शादी के 20 दिनों के बाद ही उसके सास ससुर ने ताने देने शुरू कर दिए और दहेज लेकर आने की मांग करने लगे। जिस पर हमारा आपस में कलेश रहने लगा। इसी दौरान तीन बार हमारा पंचायती राजीनामा हुआ। मेरे पति और सास-ससुर ने मेरे विदेश जाने के लिए खर्च करने से साफ इनकार कर दिया। वीरवार को सुबह 11 बजे जब मैं अपने घर गांव बुर्ज कलारां ससुराल परिवार के पास थी तो मेरा पति सुखदीप सिंह मुझे कहने लगा कि मैंने तलाक लेना है लेकिन मैंने उसे इनकार कर दिया तो तैश में आकर मेरा पति, सास और ससुर मुझे गालियां निकालने लगे और मुझे केशों से पकड़कर नीचे फेंक दिया और मेरी बुरी तरह से मारपीट करने लगे। जब मैंने शोर मचाया तो आस-पड़ोस के लोगों द्वारा मुझे छुड़ाया गया और फोन करके मेरे पिता को जानकारी दी। उन्होंने पहुंच कर मुझे सिविल अस्पताल हठूर में दाखिल करवाया। जसप्रीत कौर की शिकायत पर उसके पति सुखदीप सिंह, सास इंद्रजीत कौर ससुर चरणजीत सिंह निवासी गांव बुरज कलारां और गोरखा निवासी बधनी कलां जिला मोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

Edited By: Vinay Kumar