जागरण संवाददाता, लुधियाना : कोचर मार्केट पुलिस चौकी से जेल में शिफ्ट किए गए हवालाती की मौत के मामले में स्वजनों ने पुलिस कमिश्नर कार्यालय के बाहर धरना देकर आरोपित पुलिस कर्मचारियों पर आपराधिक मामला दर्ज करवाया है। यह मौत फरवरी 2020 में वाहन चोरी के आरोप में पकड़े गए दीपक नामक आरोपित की हुई थी। अदालत ने इस मामले में नामजद थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे, जिसके बाद बुधवार को स्वजनों ने धरना देकर आरोपितों की गिरफ्तारी मांगी है।

जानकारी के अनुसार दीपक के पिता विनोर शुक्ला ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उसके बेटे दीपक को वाहन चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उसे दो दिन पुलिस रिमांड पर रखने के बाद अदालत में पेश किया था और उसे ज्यूडीशियल रिमांड पर जेल भेज दिया था, मगर पुलिस उसे चौकी लेकर आई और बाद में जेल में बंद किया था और वहां पर उसकी मौत हो गई थी। उनका अरोप है कि पुलिस की तरफ से उनसे 1.25 लाख रुपए मांगे थे और उनकी तरफ से उन्हें 25 हजार रुपए ही दिए गए थे। इसके बाद उनके बेटे पर अत्याचार किया गया। उनके द्वारा की गई शिकायत के बाद सब इंसपेक्टर रिचा रानी, एएसआइ जसकरण सिंह और एएसआइ चरणजीत सिंह के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। शुक्रवार को अदालत ने इनके गैर जमानती वारंट जारी किए थे और उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर ही परिवार व अन्य रिश्तेदारों की तरफ से धरना प्रदर्शन किया गया था।

Edited By: Jagran