जगराओं, [बिंदु उप्पल]। गरीबी के बावजूद एक के बाद एक कामयाबी हासिल कर रही और ओलंपिक के लिए क्‍वालीफाई करने वाली पंजाब की महिला मुक्‍केबाज सिमरनजीत काैर का बड़ा आश्‍वासन मिला है। पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने सिमरजीत को हर चिंता को छोड़ कर ओलंपिक की तैयारी में जुट जाने को कहा है।सिमरनजीत की आर्थिक हालत खराब होने का पता चलने के बाद मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अफसरों को इस मामले को देखने के आदेश दिए हैं। इसके बाद सिमरनजीत के परिवार को आर्थिक हालात सुधरने की आस बंधी है। समझा जाता है कि पंजाब सरकार जल्‍द ही सिमरनजीत के लिए बड़ा कदम उठाएगी और आर्थिक सहायता के संग उन्‍हें सरकारी नौकरी भी दी जा सकती है।

मां राजपाल कौर ने कहा, सीएक पर आश्वासन मिलना अच्छी बात, हमें रहेगा अच्छे दिन का इंतजार

गांव चाकर में सिमरनजीत कौर की मां राजपाल कौर ने कहा कि हमें भी वाट्सअप पर मुख्यमंत्री द्वारा किए हुए ट्वीट की जानकारी मिली। उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को इसके लिए धन्यवाद दिया। राजपाल ने कहा, मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का आश्वासन मिलने के बाद अब हमें अच्छे दिन का इंतजार है। पिछले दस वर्षों से उनकी बेटी ने पंजाब का नाम रोशन किया है। तमाम उपलब्धियां हासिल करने के बाद भी खेल विभाग ने कभी कोई सुध नहीं ली।

मां के साथ महिला मुक्‍केबाज सिमरनजीत कौर। (फाइल फोटो)

मां ने बताया कि मुक्केबाज सिमरनजीत ही परिवार की रोजी रोटी का साधन है। उसके पिता के देहांत के बाद एक टीवी चैनल से मिलने वाले 15 हजार रुपये से ही परिवार का पालन पोषण होता है। उसकी जीत के बाद जगराओं की विधायक सरबजीत कौर माणुके फूलों का गुलदस्ता लेकर बधाई देने घर आई थीं। लेकिन, जिस घर में गरीबी और खाने के लाले हों वहां ये फूल क्या किसी का पेट भर सकते हैं। मेरे सभी बच्चों ने मुक्केबाजी में अपनी प्रतिभा दिखाई है लेकिन किसी भी पार्टी या सरकार ने परिवार की आर्थिक मदद नहीं की।

दस वर्षों से मुक्केबाजी में पंजाब का नाम रोशन करने वाली सिमरनजीत कौर को नौकरी मिलने की उम्मीद

राजपाल कौर ने कहा, उनकी बेटी 3 फरवरी, 2020 को चीन में होने वाली एशियाई मुक्केबाजी मुकाबलों और उसके बाद ओलंपिक में भाग लेने की तैयारी कर रही है। उन्होंने सरकार से अपील की कि उनके परिवार की आर्थिक तंगी दूर की जाए। बता दें कि सिमरनजीत आजकल दिल्ली में ट्रेनिंग कैंप में है और चीन में होनी वाली चैंपियनशिप पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं।

सीएम ने कहा, तुस्सीं पंजाब दा मान 

सिमरनजीत कौर की खराब आर्थिक हालत को वायरल एक ट्वीट के जवाब में मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि- ' चिंता की कोई बात नहीं है। तुम फरवरी में चीन में होने वाली प्रतियोगिता व ओलंपिक पर पूरा ध्यान केंद्रित करो। सिमरनजीत तुस्सीं पंजाब दा मान हो और खेलों में कमाल प्रदर्शन करके आपने पंजाब का नाम रोशन किया।' उन्होंने ट्वीट के माध्यम से ही सेक्रेटरी स्पोर्ट्स को मामले की जांच करने के निर्देश देते हुए इस मुद्दे को गंभीरता से देखने और मदद करने को कहा।

सरकार से नौकरी की उम्मीद जगी: सिमरनजीत

विश्व मुक्केबाजी की विजेता सिमरनजीत कौर ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के ट्वीट से उन्हें नौकरी की उम्मीद जगी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मेरी मेहनत व मेरी बेरोजगारी के दर्द को समझा है। मुझे उम्मीद है कि साल 2020 में मेरी किस्मत खुलेगी और मेरी पढ़ाई व खेल योग्यता अनुसार कोई नौकरी मिल जाएगी। साल 2019 में दो बार पंजाब सरकार को मेल कर मदद की गुहार लगाई थी, लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिला।

सिमरनजीत ने कहा, ' मुक्केबाजी में विश्व कीर्तिमान बनाने के बावजूद मैं बेरोजगार हूं। मुझे केवल पदक ही मिले कोई और मदद नहीं मिली। मेरे परिवार में कमाने वाला कोई नहीं जबकि खाने वाले पांच सदस्य है। ऐसे में स्पांसरर्स के पैसों से परिवार का पेट भरना पड़ रहा है। उम्मीद है कि सरकार से अब डीएसपी रैंक से ऊपर की नौकरी मिलेगी।' उन्होंने सुध लेने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद भी किया।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!