संसू, लुधियाना : श्री लक्ष्मी नारायण धाम के प्रमुख सद्गुरु कुमार स्वामी ने संगत को आनलाइन प्रवचन करते हुए कहा कि परमात्मा को पाने के लिए साधु-संत तथा ऋषियों ने सैकड़ों वर्षो तक कठिन तप किए, तब कहीं जाकर उनकी मनोकामना पूर्ण हुई। इस कलयुग में प्रभु की ऐसी कृपा है कि कम समय में ही उस परमात्मा को प्राप्त किया जा सकता है। आदमी परमात्मा था लेकिन वह बन गया वकील, डाक्टर, व्यापारी, अमीर, संगीतकार आदि। यह विकार इस पृथ्वी पर आते ही मनुष्य के अंदर विकसित हो जाता है और वह अपनी स्थिति को भूल जाता है कि वह परमात्मा हैं तथा भटकता है, विकारों में, विषय-भोग कामनाओं में और जब जीवन की संध्या हो जाती है तब उसे याद आता है कि वो इस पृथ्वी पर किस लिए आया था। तब तक बहुत देर हो जाती है। केवल सद्गुरु ही यह आलोक दे सकता है जिसके माध्यम से परमात्मा तक पहुंचा जा सकता है। बिना गुरु के ज्ञान और कृपा के उसे देखा नहीं जा सकता है।

Edited By: Jagran