लुधियाना, जेएनएन। पंजाब के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशु ने लुधियाना में कोविड महामारी की स्थिति को खतरनाक करार देते हुए कहा है कि लोगों की बीमारी से जान बचाना ही प्राथमिकता है। सभी को मिल कर एक दूसरे के सहयोग के साथ ही इस मुश्किल घड़ी का मुकाबला करना होगा। आशु ने शुक्रवार को शहर के उद्यमियों, व्यापारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। इसमें विधायक सुरिंदर डाबर, संजय तलवाड़, मेयर बलकार सिंह संधू, डीसी वरिंदर शर्मा, पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल भी खास तौर पर उपस्थित रहे।

बैठक में उद्योग जगत के अलावा ट्रांसपोर्टर, फर्नीचर, कपड़ा, मोबाइल, सराफा, रेस्टोरेंट एवं होटल कारोबारियों के साथ विचार सांझा किए। कारोबारियों ने कहा कि बेशक दुकानें एवं कारोबार बंद करने से आर्थिक तौर पर चोट लगती है, लेकिन गंभीर हालात को देखते हुए कीमती जानों को बचाने के लिए अब जल्दी से जल्दी सख्त पाबंदियां लगाने की जरूरत है। उन्होंने इस लड़ाई का मुकाबला करने के लिए सामुहिक प्रयास करने का आहवान किया। कोरोना की दूसरी लहर घातक साबित हो रही है। लोग अपनों को गंवा रहे हैं। जीवन पर भारी संकट है।

कैबिनेट मंत्री आशु ने कहा कि अस्पतालों में लगभग लेवल दो और तीन के सारे बेड भर चुके हैं। शहर में कोविड मरीजों के लगातार इजाफे केकारण सेहत सेवाओं पर जबरदस्त दबाव है। प्रशासन पहले ही पूरी तरह से सक्रिय है, मरीजों के सर्वोत्तम इलाज के लिए अलग अलग जगहों पर और बेड की व्यवस्था की जा रही है। आशु ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बिना शर्त तुरंत सख्त कदम उठाने की वकालत की। आशु ने कहा कि हालात चिंताजनक होने के बावजूद लोग अभी भी कोराेना मानकों के अलावा सरकारी निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। डिप्टी कमिश्नर वरिंदर कुमार शर्मा एवं पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि लोगों को कोविड प्रोटोकाल की पालन करनी होगी। इससे संक्रमण को कम करके सेहत सेवाओं पर दबाव को भी कम किया जा सकता है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Vinay Kumar