जेएनएन, लुधियाना। व्यापारी वर्ग को सदा ही राजनीतिक पार्टियों की ओर से झूठे आश्वासन दिए जाते हैं। चुनावों के दौरान तो उनके साथ सारी पार्टियां ब़ड़े-बड़े वायदे करती हैं, लेकिन सत्ता में आते ही उन्हें नजरअंदाज किया जाता है। ऐसे में अब व्यापारी वर्ग एकजुट होकर उसी पार्टी का समर्थन करेगा, जिसने व्यापारियों के लिए काम किया है और आने वाले समय पर दृढता से उनकी मांगों को पूरा करने का काम करेगा। जिस पार्टी ने चुाव के दौरान उनकी मांगों को नजरअंदाज किया है, उसको वह चुनावों में जवाब देंगे। यह विचार पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल की दंडी स्वामी चौक के पास स्थित होटल आमंत्रण में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने प्रकट किए।

मीटिंग के दौरान रणनीति तैयार करते व्यापारी।

बैठक की अध्यक्षता पंजाब महासचिव सुनील मेहरा ने की। इस दौरान उनके साथ सचिव मोहिंदर अग्रवाल, जिला प्रधान अरविंदर मक्कड़, सचिव बलदेव गुप्ता सहित विभिन्न बाजारों के व्यापारी और ट्रेडर्स शामिल हुए। उद्यमियों ने कहा कि एक तरफ तो सरकार व्यापार को बढ़ाने के लिए मेक इन इंडिया का नारा दे रही है, वहीं इंकम टैक्स विभाग की ओर से बिना वजह परेशान किया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश सरकार की ओर से पांच रुपए यूनिट बिजली, पंजाब ट्रेडर्स एंव उधोग बोर्ड न बनाए जाने. बकाया वैट रिफंड न दिए जाने, ईवे बिल की सीमा को बढ़ाने पर काम नहीं किया गया। व्यापारी को खुशहाल बनाने के लिए सरल प्रक्रिया और अफसरशाही से राहत देनी चाहिए।

इस दौरान विभिन्न बाजारों में मूलभूत सुविधाएं न होने पर भी चर्चा की गई। इस संबंध में व्यापारी विधायकों, सांसद और निगम कमिश्नर से भी वार्ता करेंगे। इस दौरान सीए रविकांत, अश्वनी महाजन, केवल गुप्ता, बनवारी हरजाई, विमल कुमार, संजीव कुंद्रा, विवेक हांडा, रवि धवन सहित भारी संख्या में व्यापारी शामिल हुए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!