लुधियाना, जेएनएन। पंजाब और हरियाणा में शादी के नाम पर ठगी का धंधा जाेरों पर है। ठग गिराेह 'दुल्‍हन की दुकानदारी' की लोगों से मोटी रकम की ठगी कर रहे हैं। इसके निशाने पर अधिक उम्र हाेने के बावजूद शादी न हाेने पाने वाले लोग होते हैं। पंजाब पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। ये लाेग दुल्हन बेच कर मोटी कमाई करते थे। ये दुल्हनें दो-तीन दिन दिनों में ही ससुराल से नकदी और गहने लेकर चंपत हो जाती थीं।

हरियाणा के हिसार के एक व्‍यक्ति की शादी कराने की थी तैयारी

पकड़े गए गिरोह की दो लुटेरी दुल्हनें अपने तीसरे साथी समेत पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस उनकी तलाश में छापेमारी कर रही है। पकड़े गए आरोपितों को अदालत में पेश किया। उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एसीपी इंडस्ट्रियल एरिया-बी संदीप वढेरा ने बताया कि आरोपितों की पहचान हिसार (हरियाणा) के थाना नारनौंद के गांव कापड़ो निवासी पाला, उसकी पत्‍नी रानी, भादसों (पटियाला) के गांव सूदेवाल निवासी गुरमीत कौर, जसविंदर कौर तथा आशा रानी के रूप में हुई।

थाना शिमलापुरी के एसएचओ प्रमोद कुमार ने सूचना के आधार पर गिल नहर पुल पर रेड करके पांचों आरोपितों को गिरफ्तार किया। मौके पर शिमलापुरी के बसंत नगर निवासी एक महिला को उनके कब्जे से मुक्त कराया। आरोपित हिसार निवासी ट्रक ड्राइवर सुनील के साथ उसकी शादी कराने जा रहे थे। इसके लिए सुनील ने उन्हें 60 हजार रुपये दिए थे। पुलिस ने यह रकम भी बरामद कर ली है।

आरोपित ऐसे बनाते थे शिकार

एसीपी वढेरा ने बताया कि उनके फरार हुए साथी शिमलापुरी निवासी सोनिया, बाला और हरजंग सिंह हैं। सोनिया और बाला उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं। गिरोह के सदस्य मरासी बिरादरी से संबंध रखते हैं। ये लोग हिसार और उसके आसपास होने वाली शादियों में बधाई मांगने जाते हैं। वहां अपना शिकार तलाश करते थे। उन्हें ऐसे बहुत से लोग मिल जाते हैं, जिनकी किसी वजह से शादी नहीं हो पाती।

आरोपित उसे बताते हैं कि उनकी नजर में एक लड़की है, मगर उसका परिवार बहुत गरीब है। परिवार की मदद करनी पड़ेगी। मदद के नाम पर मोटी रकम ऐंठ कर वो सोनिया या बाला में से किसी एक की उससे शादी करा देते। एकाध दिन रुकने के बाद दोनों वहां से माल समेट कर फरार हो जातीं।

पकड़े गए आरोपितों के साथ पुलिस।

दुल्हन बदलने पर खुला भेद

इस बार गिरोह के सदस्यों का नया शिकार हिसार निवासी सुनील बना। आरोपितों ने उसके साथ 60 हजार रुपये में सौदा किया था। उसे सोनिया और बाला दोनों की फोटो दिखाई गई थी। मगर बाद में गिरोह के सदस्यों ने शिमला पुरी के बसंत नगर निवासी सपना को बहला फुसला कर सुनील से शादी के लिए राजी कर लिया। मगर मंगलवार शाम जब सुनील यहां पहुंचा तो फोटो में दिखाई दुल्हन की जगह दूसरी महिला को देख उसने हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि सोनिया, बाला और हरजंग फरार हो गए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!