संगत मंडी (बठिंडा), जेएनएन। पंजाब में कर्ज तले दबे किसानों के आत्महत्या करने का क्रम थम नहीं रहा है। गत दिनों संगत मंडी में फाइनांस कंपनी के मुलाजिमों के दुर्व्यवहार से दुखी युवा किसान ने जहरीली दवा निगल कर आत्महत्या कर ली। किसान ट्रैक्टर की किस्त भरने फाइनांस कंपनी के दफ्तर गया था। आरोप है कि वहां उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया। इससे आहत होकर उसने जान दे दी।

गांव मल्लवाला के रहने वाले 19 वर्षीय किसान सुखमनजीत सिंह के पास सिर्फ ढाई कनाल जमीन थी। उसके पिता इकबाल सिंह और दादा ने करीब सात लाख रुपये का कर्ज ले रखा था। 2017 में उसने फाइनांस कंपनी से कर्ज लेकर एक ट्रैक्टर खरीदा था। कर्ज की किस्त न भरी जाने के कारण कंपनी के मुलाजिम ट्रैक्टर उठा ले गए थे। 4 फरवरी को सुखमनजीत जब किस्त भरने के लिए फाइनांस कंपनी के दफ्तर गया तो मुलाजिमों ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया। परेशान होकर सुखमनजीत ने घर आकर जहरीली दवा निगल ली। गंभीर हालत में उसे एक निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था, जहां पांच फरवरी को उसने दम तोड़ दिया।

 

थाना संगत के एसएसआइ अमृतपाल सिंह ने बताया कि सुखमनजीत के पिता इकबाल सिंह के बयान पर प्राइवेट फाइनांस कंपनी और उसके मुलाजिम रवि कुमार सहित अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज कर लिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!