जागरण संवाददाता, लुधियाना। लोक इंसाफ पार्टी के प्रधान एवं हलका आत्मनगर से विधायक सिमरजीत सिंह बैंस पर आरोप लगाने वाली महिला की ओर से अपनी शिकायत वापस लेने के बाद लोक इंसाफ पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आक्रमक तेवर अख्तियार कर लिए हैं। लुधियाना में शुक्रवार को भाईबाला चौक में सुखबीर बादल एवं सिमरजीत सिंह बैंस समर्थक आमने सामने आ गए। दोनों गुटों ने एक दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बैंस समर्थकों ने शिअद व पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीश ढांडा का पुतला फूंका। मौके पर मौजूद पुलिस ने दोनों पक्षों को नियंत्रण में करके टकराव को टाला। पुलिस ने बैंस समर्थकों को हिरासत में ले लिया और उनको बस में भर कर थाने में ले गए।

इस मुद्दे पर शिअद ने जमकर बैंस को घेरने का प्रयास किया था और कई बार सीपी को बैंस के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर मुलाकात भी की। अब महिला की ओर से शिकायत वापस लेने के बाद लिप के निशाने पर शिअद आ गया है।

पार्टी प्रधान सुखबीर बादल का भाईबाला चौक स्थित एंबेसी पैलेस में शिअद पदाधिकारियों के साथ बैठक का कार्यक्रम है। सुखबीर का विरोध करने के लिए लिप नेता यूथ प्रधान गगनदीप सिंह के नेतृत्व में मिनी सचिवालय से काली झंडियां थाम कर रोष मार्च निकालते हुए एंबेसी पैलेस की तरफ बढ़ने लगे। इसकी भनक लगते ही शिअद नेता हरीश ढांडा और कमल चेतली अपने समर्थकों के साथ भाईबाला चौक में जमा हो गए। दोनों पक्षों में आरोप प्रत्यारोप का दौर चला। लिप नेताओं ने कहा कि पार्टी प्रधान को बेवजह ही बदनाम किया इस पर दोनों पक्षों में गर्मा गर्मी हुई। लिप नेताओं ने काली झंडियां दिखाने के बाद शिअद व अकाली दल के वरिष्ठ नेता हरीश राय ढांडा  का पुतला जलाया। इस दौरान पुलिस ने लिप नेताओं को हिरासत में ले लिया। तब मामला शांत हुआ।

उधर, शिअद नेता हरीश ढांडा का कहना है कि बैंस ने दबाव में आकर महिला से शिकायत वापस करवा ली, लेकिन दूसरी महिला अभी भी आरोप लगा रही है। वह इंसाफ की मांग कर रही है। ढांडा ने कहा कि उस महिला को इंसाफ दिला कर रहेंगे। इसके लिए शिअद लंबी लड़ाई के लिए भी तैयार है।

Edited By: Vinay Kumar