जागरण संवाददाता, खन्ना : इंप्रूवमेंट ट्रस्ट खन्ना द्वारा अतिक्रमण के खिलाफ शुरू की गई मुहिम कुछ दिनों में ही दम तोड़ गई। दीवाली पर्व की आड़ में अतिक्रमणकारियों को दी गई अस्थायी राहत अब स्थायी राहत में तब्दील होती नजर आ रही है। अतिक्रमण के खिलाफ लड़ाई लड़ते आ रहे खन्ना के लोक सेवा क्लब ने इसकी निदा की और हाई कोर्ट जाने की चेतावनी दी है। क्लब के प्रधान पीडी बांसल ने कहा कि उनके ख्याल में अतिक्रमण करने वालों को राजनीतिक शरण मिल गई है।

बांसल ने कहा कि गुरु अमरदास मार्केट, जीटीबी मार्केट और मंजा मार्केट को अतिक्रमण से मुक्त करने का दावा करने वाले प्रशासन भी कार्रवाई में उसी तरह फेल होता दिखाई दे रहा है जिस तरह नगर कौंसिल प्रशासन कई बार अतिक्रमण हटाने के दावे कर असफल सिद्ध हुआ है। प्रशासनिक आधिकारियों के पदों पर राजनीतिक लोगों की नियुक्तियां होने से प्रशासनिक ढांचा बेकार होता जा रहा है। हर नियम को तोड़मरोड़ कर वोट बैंक बचाया जाता है।

बांसल ने कहा कि जिस तरह पहले गुरु अमरदास मार्केट में गैर-कानूनी बेसमेंट को मंजूर करने का प्रस्ताव डालकर नियमों की धज्जियां उड़ाई गई थी उसी तरह अब पब्लिक की सुविधा के लिए बनाए बरामदों और दुकानों की छतें बेचने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है ताकि इस मार्केट में भी दो-तीन मंजिला इमारतें बना दी जाएं। बांसल ने कहा कि जरूरत पड़ने पर हाई कोर्ट की शरण भी ली जाएगी। इस अवसर पर तारा चंद महासचिव, बलदेव शर्मा मुख्य सलाहकार, दिलप्रीत सिंह कोषाध्यक्ष, अवतार सिंह मान प्रेस सचिव, राकेश कुमार, नवजीत सिंह, मोहन सिंह भी उपस्थित थे। फोटो - 8

जल्द होगी अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई : लाली

इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन गुरमिदर सिंह लाली ने कहा कि किसी को स्थायी राहत नहीं दी गई है। पहले दीवाली के लिए राहत दी गई थी और उसके बाद प्रकाशोत्सव के कारण पुलिस व्यस्त थी। किसी कीमत पर ढील नहीं बरती जाएगी। जल्द ही अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई दोबारा शुरू होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!