संवाद सहयोगी, जगराओं : पूर्व सरपंच द्वारा गांव में नशा विरोधी मुहिम चलाने से खफा हुए नौजवान द्वारा पूर्व सरपंच की मारपीट की गई। इस पर बहन-भाई के खिलाफ थाना सिधवां बेट में धार्मिक भावनाएं आहत करने और धमकाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।

एएसआइ नसीब चंद ने बताया कि गांव गोरसियां खान मोहम्मद के पूर्व सरपंच बलजीत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया कि गांव के पूर्व सरपंच सुरजीत सिंह की ट्रैक्टर ट्राली बाहर गली में उसके घर के सामने खड़ी थी। रात के समय रणजीत सिंह ने सुरजीत सिंह के उक्त ट्रैक्टर-ट्राली के टायरों की टूटियां उखाड़नी शुरू कर दी। उस समय मौके पर आवाज सुनकर सुजीत सिंह घर से बाहर आ गया, जिसने रणजीत सिंह को मौके पर पकड़ लिया। शोर सुनकर शिकायतकर्ता भी मौके पर आ गया तो उसमें सुरजीत सिंह को कहा कि वे पुलिस को सूचना दे। मैं अपना मोबाइल फोन अपनी जेब से निकालकर काल करने लगा तो इतने में रणजीत सिंह की बहन सपना आ गई। उसने मुझे थप्पड़ मार दिया और मेरी दस्तार उतार दी और रणजीत सिंह और सपना ने मेरी बुरी तरह से मारपीट की और धमकी देकर वहां से फरार हो गए। शिकायतकर्ता पूर्व सरपंच बलजीत सिंह ने कहा कि इस सभी की वजह रंजिश यह है कि उसने पिछले समय से गांव में नशा विरोधी मुहिम चलाई हुई है और रणजीत सिंह इसी बात से नाराज है। पूर्व सरपंच बलजीत सिंह की शिकायत पर रणजीत सिंह और उसकी बहन सपना निवासी गांव गोरसियां खान मोहम्मद के खिलाफ थाना सिधवांबेट में मुकदमा दर्ज किया।

Edited By: Jagran