जासं, जगराओं : हर मानव के बीते पलों की यादें उसकी यादें बनकर हमेशा उसके साथ चलती रहती है। इनमें अच्छी यादें जहां लंबा समय बीत जाने के बावजूद भी उसकी जिदगी का सुनहरी पल बन कर उसको हमेशा खुशी देती हैं। वहीं मनुष्य ऐसी यादों को पुन: जीने की इच्छा भी रखता है। ऐसी यादों में गुरु हरिगोबिद खालसा कॉलेज गुरुसर सुधार में बिताए पल हमारी यादों का रोशन चिराग बने हुए है। यह कहना है इस कॉलेज के पुराने विद्यार्थियों ने कॉलेज की वार्षिक एलुमनी मीट में किया। इस मीट के आरंभ में एलुमनी एसोसिएशन के प्रधान व कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल डॉ. सवरणजीत सिंह दियोज ने सभी का स्वागत करते कॉलेज की अकादमिक व खेल व सभ्याचारक गतिविधियों बारे भी जानकारी दी। उन्होंने कॉलेज विद्यार्थियों के साथ बिताए वर्ष में खेल क्षेत्र के साथ-साथ लगभग तीन दर्जन यूनिवर्सिटी पोजीशन की प्राप्ति, कॉलेज के ग्रुप शब्द, समूह गान, लोकगीत, गजल व भगड़ा का जोनल युवक मेले में पहला स्थान प्राप्ति, कॉलेज के ग्रुप शब्द, समूह गान, लोकगीत, गजल व भंगड़े का जोनल युवक मेले में पहला स्थान प्राप्त करना कॉलेज की ऊंची शान का प्रतीक है। कॉलेज गर्वनिग काउंसिल के प्रधान मनजीत सिंह गिल ने एलुमनीज को कॉलेज से अपनी गहरी सांझ बनाई रखने के लिए प्रेरित किया। एलुमनी एसोसिएशन के सचिव डॉ. बलजिदर सिंह ने वित्तीय लेखे जोखे का हिसाब देते एनआरआइ की ओर से पाए योगदान का विशेष जिक्र किया। कॉलेज के संगीत विभाग की ओर से विभिन्न पेशकारियों व भंगड़ा ग्रुप की ओर से भंगड़ा की पेशकारी की गई। लंबे समय तक प्रिंसिपल रह चुके प्रिंसिपल मनजीत सिंह खटड़ा ने कॉलेज से जुड़ी यादों को सांझा किया। इस मौके पर हरबंस कौर खटड़ा, महिद्र सिंह, रिटायर डायरेक्टर जनरल, डॉ. आर के कपूर, हल्का विधायक जगतार सिंह, डॉ. सरबजीत कौर, डॉ. सतविदर कौर, डॉ. हरजिदर सिंह बराड़, प्रो. दलजीत कौर थिद, प्रो. हरदयाल सिंह, प्रिंसिपल राम सिंह, जरनैल सिंह, प्यारा सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी स्वर्णजीत कौर, चरणजीत सिंह, हरभजन सिंह धालीवाल, हरबंस सिंह खंगूड़ा, कर्नल बचितर सिंह, जुगराज कौर, बलदेव सिंह धालीवाल, टहल सिंह कैले सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।