डीएल डॉन, लुधियाना : एलपीजी की सप्लाई नियमित और नियम से हो इसके लिए गैस कंपनी तत्पर है। गैस की अवैध रिफलिंग पर नकेल कसा जाय और कंज्यूमर को सुरक्षित किचन मिले ताकि हादसे न हो इसके लिए बीमा कंपनी भी निर्देश जारी की है। विगत कुछ वर्षो में एलपीजी का अवैध रिफलिंग बढ़ने की शिकायत और एलपीजी का उपयोग नियम के मुताबिक नहीं होने से काफी हादसे हुए जिसमें बीमा कंपनी को मोटी बीमा राशि चुकानी पड़ी है जिससे बीमा कंपनी भी एलपीजी की खपत सुरक्षित किचन में हो ऐसी व्यवस्था चाहती है। कनेक्शन व किचन की जांच

पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा लिक्विफाइट पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) की योजना में गैस बरतने का नियम व शर्त भी है। कंज्यूमर अपने किचन की बनावट कैसे बना रखे है गैस कनेक्शन की जांच नियम के मुताबिक करवा रहे या नहीं किचन और गैस कनेक्शन नियम नीति पर खरा है या नहीं इन सभी की पड़ताल जरूरी हो गया है। महानगर में लगातार हादसे से बीमा कंपनी को हो रहे नुकसान से बीमा कंपनी भी संबंधित विभाग और कंज्यूमरों को सावधानी बरतने की अपील करने लगी है। एलपीजी कंज्यूरों का लिस्ट गैस कंपनी के साथ सरकार के पास भी उपलब्ध है लेकिन अवैध रिफलिंग और बाजार में गड़बड़ी पर नकेल कसने के लिए भी विभाग को ठोस कदम उठाने को कहा गया है।

अवैध रिफिलिंग का लिस्ट तैयार

महानगर के विभिन्न इलाके में एलपीजी का अवैध रिफलिंग से जिला फूड सप्लाई विभाग सकते में है। विभाग को निर्देश है कि गैस का अवैध रिफलिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो। जिससे जिला फूड सप्लाई अधिकारी टीम के साथ ऐसे आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई में जुटे है। गत दिवस करीब आधा दर्जन अवैध रिफलिंग दुकानों पर छापामारी हुई है। इस छापामारी में आरोपित पकड़ा गया और उसके दुकान से सिलेंडर और अवैध उपकरण जब्त किए गए। 10 सितंबर को ग्यासपुरा के मक्कड़ कालोनी के मार्केट में जिला फूड सप्लाई अधिकारी राकेश भास्कर ने टीम के साथ छापामारी कर तीन आरोपितों को काबू किया और उनके सामान जब्त कर केस दर्ज करवाया। वहीं महानगर के अन्य इलाकों में चले रहे इस अवैध कारोबार पर विभाग का पैनी नजर है और आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की योजना बनी है। श्रमिक बहुल क्षेत्रों में ज्यादा गड़बड़ी

एलपीजी का अवैध रिफलिंग और बिक्री श्रमिक बहुल क्षेत्रों में अधिक है। देश के मानचेस्टर में श्रमिकों के लिए सुविधा नहीं होने श्रमिक परेशान है। भोजन बनाने के लिए श्रमिकों को ना तो कैरोसिन सप्लाई है और ना ही गैस मिल रहा है जिससे ये मजबूर होकर अवैध रिफलिंग से गैस खरीद करते है और ब्लैक से कैरोसिन खरीद करते है। ऐसे में सरकार को श्रमिकों को भी सुविधा देनी चाहिए ताकि देश के मानचेस्टर में श्रमिकों का किल्लत ना हो। अवैध रिफलिंग पर कार्रवाई अभियान : राकेश भास्कर

जिला फूड सप्लाई अधिकारी राकेश भास्कर बताते है कि अवैध रिफलिंग और एलपीजी किचन से कनेक्शन तक की जांच-पड़ताल के लिए एक योजना बनी है जिसके तहत अवैध रिफलिंग पर सख्त कार्रवाई जारी है।

Posted By: Jagran