जागरण संवाददाता, लुधियाना। देश की आजादी के लिए शहादत देने वाले शहीद सुखदेव थापर का पैतृक घर प्रशासनिक उपेक्षाओं की मार झेल रहा है। पंजाब सरकार कई बार शहीद के पैतृक घर व नौघरा के सौंदर्यीकरण की घोषणा कर चुकी है। लेकिन अभी तक यह घोषणाएं जमीन पर नहीं उतरी। अब शहीद सुखदेव थापर मैमोरियल ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने आरपार की लड़ाई का एलान किया तो सरकार ने 50 लाख रुपये फंड जारी कर दिया। पंचात विभाग ने यह फंड अब नगर निगम के खाते में ट्रांसफर कर दिया है। नगर निगम अब जल्दी ही शहीद के घर के आसपास सुंदरीकरण का काम शुरू करेगा।

यह भी पढ़ें-लुधियाना के IAS अफसर को पसंद नहीं आते पुराने आफिस, पोस्टिंग होते ही तुड़वा देते हैं बाथरूम, फर्नीचर भी नया चाहिए

कैंपस को सुंदर बनाने की मांग

नगर निगम अफसरों ने कुछ दिन पहले नौघरा का दौरा किया और ट्रस्ट के सदस्यों के बातचीत की। ट्रस्ट के सदस्यों ने कहा कि निगम अफसरों से मांग की गई है कि इस कैंपस को सुंदर बनाया जाए ताकि जो लोग शहीद के पैतृक घर को देखने आते हैं उनके मन में अच्छी छाप जाए। ट्रस्ट के प्रमुख अशोक थापर ने बताया कि निगम अफसर सर्वे करके गए हैं।

यह भी पढ़ें-Stubble Burning In Punjab: 7 दिन में दोगुनी रफ्तार से बढ़े पराली जलाने के मामले, एक्यूआइ पर भी असर

चौड़ा बाजार से रास्ता देने के काम पर भी ढिलाई

उम्मीद है कि वह जल्दी काम शुरू करवाएंगे। उन्होंने बताया कि चौड़ा बाजार से रास्ता देने के काम पर भी प्रशासन ने पहले ढिलाई बरती। लेकिन अब कुछ काम हो रहा है। उन्होंने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक करोड़ रुपये नौघरा के लिए जारी किए थे। वह अब निगम के पास आ चुके हैं।

यह भी पढ़ें-लुधियाना के MLA सिमरजीत बैंस की मुश्किलें बढ़ी, दुष्कर्म केस में अदालत में चार्जशीट दायर; 18 नवंबर को होगी सुनवाई

Edited By: Vipin Kumar