जगराओं, (लुधियाना) [हरविंदर सिंह सग्गू]। Gangsters Attack On Punjab Police: दो पुलिस अधिकारियों का कत्ल करने के मामले में नामजद किए गए गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया के पिता पुलिस में इंस्पेक्टर थे। समय ने ऐसी करवट बदली कि एक पुलिस इंस्पेक्टर का बेटा जुर्म की दलदल में फंस गया। उसके खिलाफ देश भर में करीब 50 आपराधिक मामले दर्ज हैं। गैंगस्टर जयपाल भुल्लर उर्फ मनजीत निवासी दशमेश नगर फिरोजपुर ने विक्की गौंडर और प्रेमा लाहौरिया की मौत के बाद गैंग की कमान संभाली थी।

वह विक्की गौंडर का साथी रहा है और सुक्खा काहलवां हत्याकांड में शामिल था। जयपाल गैंग में फरीदकोट निवासी तीर्थ सिंह ढिल्लवां, लुधियाना निवासी बिल्ला ख्वाजके, उत्तर प्रदेश का शूटर असलम शामिल रहे हैं, जोकि पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में हैं। जयपाल पर करीब 50 मामले दर्ज हैं। इनमें फिरोजपुर के सेखों करमीती समेत दोहरे हत्याकांड, तरनतारन और लुधियाना में दो मर्डर, लुधियाना में व्यवसायी पंकज अग्निहोत्री के घर में 60 लाख की लूट, राजस्थान के किशनगढ़ में दो करोड़ के तांबे से लदा ट्रक लूटने, लुधियाना का चिराग किडनै¨पग केस और एयरटेल शोरूम में डकैती का मामला शामिल है।

जयपाल का एक करीबी साथी गैंगस्टर चांद महोम्मद उर्फ चंदू भी है, जोकि जेल में रहते हुए ही कैंटोनमेंट कांट्रैक्टरों से वसूली कर रहा था। मोहाली पुलिस ने स्मगलर गुरजंट भोलू को जनवरी 2016 को जब गिरफ्तार किया था तो उसने जयपाल का ड्रग रैकेट से भी कनेक्शन का खुलासा किया था।

गैंगस्टर राकी की हत्या के बाद आया था चर्चा में

गैंगस्टर विक्की गौंडर व प्रेमा लहोरिया की मौत के बाद गैंग ने नए मुखी जयपाल भुल्लर को मुखिया मानते हुए उसके आदेश मानने शुरू कर दिए थे। जयपाल उस समय चर्चा में आया था जब उसने फाजिल्का के राजनीतिक नेता व गैंगस्टर रोकी की हिमाचल के परवाणू टिंबर ट्रेल के पास हत्या की थी। उसकी जिम्मेदारी लेते हुए उसने अपने फेसबुक पेज पर वारदात वाली फोटो भी शेयर की थी। सोलन में चश्मदीद परमपाल पाल और हरप्रीत सिंह के बयान पर हिमाचल पुलिस ने जयपाल व उसके गिरोह पर हत्या का केस दर्ज किया था।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें