जागरण संवाददाता, लुधियाना। यूनिवर्सिटी ग्रांटस कमिश्न (यूजीसी) 75 युवा क्रिएटिव माइंड तराशने जा रहा है। इसके लिए यूजीसी ने विभिन्न यूनिवर्सिटीज के वाइस चांसलर्स को लिखा है कि वह कालेजों में विद्यार्थियों को इस गतिविधि का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित करें। यह गतिविधि आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के तहत होगी। इसके लिए विद्यार्थियों को विभिन्न कैटेगरी के तहत फिल्म बनानी होगी जोकि निर्देशित, एडिटिंग, सिनेमैटोग्राफी, साउंड रिकार्डिंग, एक्टिंग, प्लेबैक सिंगिंग, प्राडक्शन डिजाइन और स्क्रिप्टराइटिंग के तहत होगी।

आजादी के अमृत महोत्सव थीम पर यह वीडियो तैयार करने होगी जिसमें उक्त सभी चीजें शामिल होगी। विद्यार्थियों को इसके लिए संबंधित कालेजों को 25 अक्तूबर तक एंट्रीज भेजनी होगी। यूजीसी देश भर के कालेजों में से 75 ऐसे युवा क्रिएटिव माइंड को तराशेगा जोकि सबसे बेहतरीन होंगे। जिन विद्यार्थियों का इसमें चयन किया जाएगा, उन्हें गोवा में नंवबर में होने जा रहे 52वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल आफ इंडिया की बड़ी गतिविधियों में हिस्सा लेने का मौका मिल सकेगा।

यूजीसी ने इसके लिए कई गाइडलाइंस भी जारी की है, जिसमें विद्यार्थियों की ओर से तैयार की जाने वाली आडियो, वीडियो पांच मिनट से कम या फिर दस मिनट से अधिक नहीं होनी चाहिए। फिल्म वास्तिवक भाषा में होनी चाहिए पर इसके लिए इंग्लिश में भेजना जरूरी होगा। इसके लिए विद्यार्थी की उम्र 35 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। यूजीसी का यह प्रयास विद्यार्थियों को क्रिएटिव बनाएगा और उन्हें देशभक्ति की भावना से जोड़े रखने में मददगार होगा।

देवकी देवी जैन मेमोरियल कालेज की प्रिंसिपल डा. सरिता बहल की माने तो कालेज अपने स्तर पर बी आजादी के अमृत महोत्सव के तहत कार्य कर रहा है। कालेज के विद्यार्थी कोई न कोई गतिविधि में जरूर भाग ले रहे हैं। यहां तक यूजीसी ने युवा क्रिएटिव माइंड के तहत वीडियो-आडियो बनाने की पहल की है, वह बहुत ही सराहनीय है। विद्यार्थियों में देशभक्ति की भावना बढ़ेगी।

यह भी पढ़ें-Vegetables Prices Hike: सब्जियों के दाम छू रहे आसमान, लुधियाना में 70 रुपये किलाे बिक रहा टमाटर; शिमला मिर्च भी हुई तीखी

Edited By: Vipin Kumar