जागरण संवाददाता, लुधियाना। Punjab Power Crisis: पंजाब में मौसम बदलने और कृषि क्षेत्र का लोड कम होने से बिजली की मांग घटने लगी है। इससे जहां बिजली कट से राहत मिली है वहीं, पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन लिमिटेड (पावरकाम) का भी संकट टलने लगा है। महानगर में बिजली कटौती से लोगों को राहत मिली है। हालांकि बाहरी इलाकों में बिजली गुल होने का सिलसिला जारी है। शहर के मुख्य इलाकों में बिजली कटौती बंद कर दी गई है, जिससे लोगों को राहत महसूस हो रही है। वही बाहरी इलाकों मैं बिजली की व्यवस्था सुदृढ़ नहीं होने से बिजली गुल होते रहती है।

शहर के मेहरबान, जागीरपुर रोड, बाजरा रोड जमालपुर, नूरवाला रोड, ग्यासपुरा, कंगनवाल, शिमलापुरी, रांची कॉलोनी व अयली कलां आदि से बिजली गुल होने की शिकायत लगातार मिलती रहती है। लोग बिजली बिल की शिकायत 1912 पर करते रहते हैं, लेकिन यहां भी सुनवाई नहीं होने से लोग परेशान रहते हैं। हर राेज बिजली गुल होने से लोगों को पानी नहीं मिल पाता है, जिससे लोग परेशान रहते हैं कि आखिर पानी का बंदोबस्त किस तरह किया जाए।

शनिवार सुबह 6:00 बजे से तिब्बा रोड चरण नगर में बिजली गुल हो जाने के कारण लोग पानी से वंचित हो गए जिससे लोगों में पावरकॉम के खिलाफ आक्रोश उम्र पड़ा। इलाका वासी रंजीत कुमार, राजेश व मास्टर नरेश कुमार आदि ने कहा कि सुबह 6:00 बजे पानी आने का समय होता है। इसी समय बिजली गुल हो जाने के कारण पानी लोगों को नहीं मिल पाया, जिससे लोग मुश्किल में रहे।

यह भी पढ़ें-Weather Forecast Punjab: पंजाब में आज शाम से बदलेगा मौसम, अगले 2 दिन बारिश के आसार

जल्द सप्लाई हाेगी सुचारूः पावरकाम

बाहरी इलाकों में बिजली की व्यवस्था सुधार नहीं होने के कारण बिजली गुल होती है। इस बारे में पावरकाम के चीफ इंजीनियर भूपिंदर खोसला ने कहा कि महानगर के मुख्य इलाकों में बिजली व्यवस्था पुख्ता हो चुकी है। जल्द ही बाहरी इलाकों में भी बिजली की व्यवस्था में सुधार देंगे।

यह भी पढ़ें-लुधियाना नगर निगम अधिकारियों के खिलाफ जांच लटकाने का मामला पीएमओ तक पहुंचा, जानें कारण

Edited By: Vipin Kumar