लुधियाना [राधिका कपूर]। लुधियाना में यूथ फेस्टिवल पर बना असमंजस अब खत्म होने जा रहा है। कालेजों में इन दिनों जहां दाखिला प्रक्रिया लगभग खत्म हो चुकी है, वहीं यूथ फेस्टिवल इस साल नवंबर के अंतिम सप्ताह आयोजित किए जाने की तैयारी चल रही है। पिछले साल कोविड-19 को लेकर जहां यूथ फेस्टिवल आयोजित नहीं हो पाया था और एक साल का गैप पड़ गया था, वहीं इस साल कालेजों में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर यह है कि यूथ फेस्टिवल का इस साल आयोजन किया जाना है। आयोजन को लेकर मीटिंगों का दौरान शुरू हो चुका है। एक तरह से अब दोबारा रिव्यू होने जा रहा है कि किन-किन तिथियों व कैसे यह आयोजित होगा। पंजाब यूनिवर्सिटी के यूथ वेलफेयर विभाग के डायरेक्टर डा. निर्मल जौड़ा की माने तो राज्य में कुल बारह जोन है। हर जोन के लिए मीटिंग का दौर शुरू हो चुका है। मंगलवार होशियारपुर जोन में मीटिंग होगी।

जोन ए और जोन बी की मीटिंग अक्तूबर के पहले सप्ताह

बात अगर लुधियाना की करें तो जोन ए जिसमें लड़कों के कालेज शामिल की मीटिंग एक अक्तूबर तथा जोन बी लड़कियों के कालेज की मीटिंग पांच अक्तूबर को होने जा रही है। डा. निर्मल जौड़ा ने कहा कि जोन ए से संबंधित कालेजों की मीटिंग एससीडी गवर्नमेंट कालेज तथा जोन बी की मीटिंग खालसा कालेज फार वूमेन में बुलाई गई है। उन्होंने कहा कि नवंबर के अंतिम सप्ताह में यूथ फेस्टिवल कराए जाने की योजना है और दिसंबर के पहले सप्ताह तक इसे समाप्त किया जाना है क्योंकि दिसंबर में कालेज की परीक्षाएं भी शुरू होगी। जोन अनुसार होने वाली मीटिंग में विभिन्न कालेजों के प्रिंसिपल्स जो भी सुझाव देंगे व सर्वसम्मति के साथ सभी की राय को ही पंजाब यूनिवर्सिटी में भेजा जाना है।

यूथ फेस्टिवल के इन एजेंडों पर होगा रिव्यू

-फेस्टिवल कितने दिनों तक चलना है। चार दिनों या इससे अधिक दिनों तक।

-कोविड-19 को देखते हुए कुछ विद्यार्थियों(श्रोताओं) के साथ फेस्टिवल के आयोजन पर विचार किया जा सकता है।

-यूथ फेस्टिवल में कितनी आइटमस की जानी है। सोलो के साथ-साथ कुछ ग्रुप आइटमस को कराया जा सकता है या नहीं।

-एक से दो कालेजों में भी कराए जा सकते हैं आयोजन।

-फेस्टिवल की तिथियां फाइनल कर पीयू को भेजा जाना है प्रस्ताव।

Edited By: Vinay Kumar