जागरण संवाददाता, बठिंडा। Honey Trap: काउंटर इंटेलीजेंस ने एशिया की सबसे बड़ी सैनिक छावनी की गुप्त जानकारियां पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी आइएएसआइ को देने के आरोप में एक चपरासी काे गिरफ्तार किया है। आराेपित की पहचान हरियाणा के कैथल जिले के गांव अरमाैली हाल आबाद क्वार्टर नंबर 112/6 एमईएस कालोनी बठिंडा निवासी गुरविंदर सिंह पुत्र सिमरजीत सिंह  के रूप में हुई है।

गुरविंदर बठिंडा सैनिक छावनी में स्थित मुख्यालय कमांडर वर्क इंजीनियर कार्यालय बठिंडा में चपरासी है। पता चला है कि गुरविंदर सिंह एक पीआईओ (पाकिस्तान इंटेलिजेंस ऑपरेटिव) के संपर्क में है, जिसने खुद को पीसीडीए चंडीगढ़ में सेवारत खुशदीप कौर के रूप में पेश किया था। वह फेसबुक के जरिए उसके संपर्क में आया। जहां से उसने अपना व्हाट्सएप नंबर एक्सचेंज किया। खुशदीप कौर के व्हाट्सएप नंबर के जरिए आरोपित गुरविंदर सिंह को अपने जाल में फंसाया और उसे अपने दक्षिण पश्चिमी कमान समूह में जोड़ लिया।

इसके बाद गुरविंदर ने पीआईओ खुशदीप कौर के व्हाट्सएप नंबर को वेस्टर्न सीएमडी म्यूचुअल पोस्टिंग ग्रुप और एमईएस इंफॉर्मेशन अपडेट ग्रुप में जोड़ा दिया। इतना ही नहीं आरोपित गुरविंदर ने पीसीडीए जयपुर में तैनात एक अधिकारी का फोन नंबर और अपने कार्यालय के दस्तावेज भी पीआईओ को भेजे।

बठिंडा कैंट की सैन्य इकाइयों से जुड़े दस्तावेज किए हासिल

खुशदीप कौर ने उनसे बठिंडा कैंट की सैन्य इकाइयों और 14 ब्रिगेडियर यूनिट के लगभग 10 कोर अभ्यास के बारे में जानकारी हासिल की। इसके बाद गुरविंदर ने उन्हें विभिन्न इकाइयों से संबंधित जानकारी प्रदान की। पीआईओ खुशदीप कौर गुरविंदर कौर से व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिए चैट और काल पर बात करती थी और उसे बठिंडा सैनिक छावनी की कई खुफिया जानकारी हासिल कर रही थी। कांउटर एटेंलीजेस की टीम इस पर नजर रखे हुए थे। इसके बाद बठिंडा टीम के एसआइ दीपक कुमार,बलजीत सिंह कांस्टेबल,हेड कांस्टेबल जगदीप सिंह को सूचना मिली कि आरेापित गुरविंदर सिंह इस समय बीबी वाला चौंक के पास घूम रहा है तो उन्होंने तुरंत वहां पर छापेमारी की और उनको वहां से गिरफ्तार कर लिया। जिसके खिलाफ थाना कैंट में मामला दर्ज कर उसे पूछताछ शुरू कर दी है।

 यह भी पढ़ें-Raid In Ludhiana: खालिस्तान के मुद्दे पर लोगों से उलझ जाता था गुरविंदर, मोबाइल पर करता रहता था कई घंटे बात

 

Edited By: Vipin Kumar