लुधियाना, (जगराओं) जेएनएन। कोरोना के सेकेंड स्ट्रेन की आशंका जताई जा रही है। देर रात स्कूल की आठ पाजिटिव टीचर्स को जगराओं से लुधियाना सिविल अस्पताल लाया गया और उन्हें अलग रूम में रखकर उपचार किया जा रहा है। चर्चा है कि इन पाजिटिव मरीजों के अलग-अलग टेस्ट लिए गए हैं, जो संभवत: पुणे की लैब में भेजे जाएंगे। बताया जाता है कि कोरोना पाजिटिव मरीजों के इस तरह के टेस्ट आम तौर पर नहीं लिए जाते है।

यह भी पढ़ें-Ludhiana Coronavirus Update: लुधियाना में कोरोना के तीस नए मामले, दो मरीजाें की मौत

हालांकि सिविल सर्जन डा. सुखजीवन कक्कड़ ने इससे इन्कार किया है और कहा कि यह सेकेंड स्ट्रेन की कोई बात नहीं है। मरीजों के टेस्ट सामान्य तौर पर लिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों इंग्लैंड से कोरोना का सेकेंड स्ट्रेन आने के बाद हम वतन लौटे कुछ एनआरआइज के कोरोना टेस्ट लिए गए थे। हालांकि एक को छोड़ बाकी सभी कोरोना निगेटिव आए थे, लेकिन इनमें से दो-तीन एनआरआइज गालिब कलां के हैं, जहां के स्कूल में कोरोना फैला है। बहरहाल, टीचर्स का इलाज सिविल अस्पताल में चल रहा है।शहर में काेराेना का खतरा लगातार बढ़ रहा है।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप