लुधियाना, जेएनएन। वीरवार को अंबेडकर नवयुवक दल के कार्यकर्ताओं ने रोष मार्च निकालते हुए भारत नगर चौक में दो घंटे तक जाम लगाया। प्रदर्शनकर्ताओं ने डीसी के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप कर उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित बेटी की निर्मम हत्या के मामले में न्याय की मांग की। उन्होंने उत्तर प्रदेश से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को हटाकर राज्यपाल शासन लगाने की मांग की।

प्रदर्शनकारियों ने कहा युवती अपना दुख बयां करना चाहती थी पर दरिंदों ने उसकी जबान काट दी। गर्दन हिलाकर बताना चाहती थी पर गर्दन तोड़ दी। इस जघन्य अपराध की सजा दरिंदों को जरूर मिलनी चाहिए। दल के प्रमुख बंसीलाल प्रेमी, राकेश सिंह गोविंदगढ़, राणा प्रताप सक्सेना और जिलेदार राव ने कहा यह योगी-मोदी की सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देती है पर हमारी इस बेटी के साथ तो मौत होने के बाद अन्याय हुआ है। इस देश में आतंकवादी की लाश भी उनके परिजन को दी जाती है पर हाथरस में दलित बेटी के मां, भाई, बाप सब गिड़गिड़ाते रहे पर सत्ता की चापलूसी करने वाली यूपी पुलिस ने घोर असंवेदनशीलता दिखाते हुए रात में अंधेर में जबरन उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इस घटना के बाद से मूलनिवासी समाज में भारी रोष व्याप्त है।

दल के सीनियर नेता बिल्ला पहलवान, अंकित बाल्मीकि, राणा प्रताप सक्सेना और जयराम मास्टर ने कहा अंबेडकर नवयुवक दल के साथ पूरे देश का वंचित समाज यह मांग करता है कि पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाए। परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले। मामले में आरोपित चारों दरिंदों पर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाया जाए और उन्हें फांसी दिलवाई जाए।

प्रदर्शन में साहिल, राजेंद्र अहिरवार, टीटू, सनी, भीम भारद्वाज, शत्रुघ्न, ऋषि कपूर, शिवनाथ, राजकुमार, अवध राज, लक्ष्मण, बबलू, बीरू, शंकर, अमितकुमार, राज, विक्की, गगन, सुमित, रिंकू, राहुल, अमन, रवि, दीपक, अजय, रितिक, अंबेडकर सामाजिक संस्था के प्रधान राणाप्रताप सक्सेना ने हिस्सा लिया।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!