लुधियाना, जेएनएन। लुधियाना से बड़ी संख्या में शिरोमणि अकाली दल और युवा अकाली दल के नेता और कार्यकर्ता वीरवार को कृषि कानूनों के खिलाफ राजभवन के बाहर धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए। युवा अकाली दल के जिलाध्यक्ष गुरदीप सिंह गोशा ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल का आंदोलन केंद्र सरकार को कृषि कानून वापस लेने के लिए मजबूर कर देगा। गोशा ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कृषि बिलों के खिलाफ राजभवन के बाहर विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया था। रोष मार्च तीन मोर्चों से शुरू हुआ और बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं ने विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।

गुरदीप सिंह गोशा ने कहा कि जब भी अकाली दल ने तख्त साहिब से आंदोलन शुरू किया तो वे हमेशा सफल रहे। इस बार भी पार्टी कृषि कानून वापस लेने तक आंदोलन जारी रखेगी। उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल एकमात्र पार्टी थी जो किसानों के आंदोलन में कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी थी। गुरदीप सिंह गोशा ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल किसानों के लिए कोई भी बलिदान देने के लिए तैयार है। हरसिमरत कौर बादल ने पहले ही इस्तीफा दे दिया है। पार्टी ने एनडीए से अपना समर्थन भी वापस ले लिया है।

इस मौके पर गगनदीप सिंह गसपुरा, वरुण मल्होत्रा, संजीव चौधरी, जसवंत सिंह जस्सा, बलजिंदर सिंह, सरबजीत सिंह खलास, हरमनप्रीत सिंह अरनेजा, लवली शर्मा, तरनदीप सिंह सनी, जसविंदर सिंह हैप्पी, संदीप सिंह बैंस, जगरूप सिंह, राजकुमार सती, एस। ईशान शर्मा, गुरजिंदर सिंह भामरा, इंद्रजीत सिंह, हरदीप सिंह, हरदयाल सिंह, हिम्मत सिंह, दिलप्रीत सिंह, नवप्रीत इलिलोन, जसप्रीत ग्रेवाल, जगजीत सिंह सोहल, सिमरनजीत सिंह, जगजीवन सिंह सिद्धू, यश वर्धन, गुरजिंदर सिंह, हरपाल सिंह, अमनदीप सिंह राजेश वर्मा, गुरप्रीत सिंह मान, कुलविंदर सिंह, सतनाम सिंह, अमृतपाल, गुरदीप सिंह मक्कड़, नरेंद्र सिंह, गुरकवल सिंह, अमृतपाल सिंह राजन, करणवीर सिंह, गमनदीप सिंह विंकल, रविंदर सिंह रवि, तरुण, सनी पहलवान, रिंकू अन्य लोग शामिल थे।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!